Hindi Murli Quiz 16-11-2014

10 | Total Attempts: 227

SettingsSettingsSettings
Please wait...
Hindi Murli Quiz 16-11-2014

ये क्विज आज की मुरली पर आधारित है| मुरली सुनने के लिए यहाँ क्लिक करें| पुरानी क्विज  के लिए यहाँ क्लिक करें |


Questions and Answers
  • 1. 
    ब्राह्मण बच्चे अपने विनाश और स्थापना के कर्तव्य में कहाँ तक सफल हुए हैं ? इसके लिए कुछ बातों को चेक करना है I आज की मुरली के अनुसार उन सभी बातों का चयन करें -----   
    • A. 

      पास्ट के हिसाब-किताब, पुराने स्वभाव-संस्कार कहाँ तक विनाश किए है?

    • B. 

      नये स्वभाव-संस्कार अर्थात् बाप समान स्वभाव- सस्कार की स्थापना कहाँ तक की है?

    • C. 

      अपने सम्पर्क वा सम्बन्ध वाली आत्माओं के पुराने संस्कार - स्वभाव में भी परिवर्तन करने की गति कैसी है?

    • D. 

      विश्व की सर्व आत्माओ प्रति सदा संकल्प मे कल्याण करने की स्म्रति रहती है?

    • E. 

      मन्सा द्वारा भी विश्व प्रति अपनी शक्तियो के खजाने वा ज्ञान, गुणो के खजाना को दान करते रहते हो?

  • 2. 
    'अपने विनाश और स्थापना के कर्तव्य की गति और विधि को चेक करो । जब तक स्वय में विनाश और स्थापना का प्रैक्टिकल स्वरूप नही लाया है तब तक विश्व मे कर्तव्य की प्रत्यक्षता होना भी, स्वय की गति के प्रमाण ही होगा क्योकि आज विश्व की आत्माए सौदा करने वाली हैं, सिर्फ सुनकर मानने वाली नही हैं । अपनी यथार्थ मान्यताओ को मनवाने के लिए पहले स्वयं उन मान्यताओ का स्वरूप बनना पड़े । जिस स्वरूप के सैम्पुल द्वारा सौदा सहज समझ में आयेगा ।' 
    • A. 

      True

    • B. 

      False

  • 3. 
    ब्राह्मणो के कर्तव्य के आधार से उनके विशेष टाइटिल भी हैं I उन सभी टाइटिल का चयन करें ----[उत्तर एक से अधिक हो सकते हैं ] 
    • A. 

      विश्व कल्याणकारी

    • B. 

      विश्व के आधारमूर्त

    • C. 

      विश्व के उद्धारमूर्त

    • D. 

      विश्व के परिवर्तक

    • E. 

      विश्व सुख कर्ता

  • 4. 
    संगमयुग के समय हर कदम में पदमों की कमाई का चान्स है I  फिर सारे कल्प मे यह चान्स नहीं मिलता । संगमयुग है ------करने का युग, सतयुग को प्रालब्ध का युग कहेगे, -------- करने का नही । जितना ------- करना चाहो उतना ------- कर सकते हो । एक कदम अर्थात् एक सेकेण्ड भी बिना -------- के न जाए अर्थात् व्यर्थ न हो । इतना अटेंशन रहता है ।[एक सही उत्तर से सभी रिक्त स्थान भरें ]
    • A. 

      जमा

    • B. 

      मौज

    • C. 

      खर्चे

    • D. 

      बाप को याद

  • 5. 
    आज के वरदान के अनुसार -आप 'ब्राह्मण सो फरिश्ते' देवताओं से भी ऊंचे हो,क्योंकि ------ [एक से अधिक उत्तर हो सकते हैं ,सभी सही उत्तर चयन करें ] 
    • A. 

      देवताई जीवन में बाप का ज्ञान इमर्ज नहीं होगा ।

    • B. 

      देवताई जीवन में परमात्म मिलन का अनुभव भी नहीं होगा I

    • C. 

      हम देवताओ से भी ऊच ब्राह्मण सो फरिश्ता हैं -वहां यह नशा भी नहीं होगा I

    • D. 

      नशा नहीं होने से रूहानी मजे और मौज का अनुभव भी वहां नहीं होगा I

  • 6. 
    आज के स्लोगन अनुसार --  'अपनी सेवा को भी बाप के आगे अर्पित कर दो तब कहेगे ------------ आत्मा I'[एक सही उत्तर से रिक्त स्थान भरें ] 
    • A. 

      समर्पित

    • B. 

      सेवाधारी

    • C. 

      महादानी

    • D. 

      ईमानदार

Back to Top Back to top