Hindi Murli Quiz 14-10-2014

10 | Total Attempts: 263

SettingsSettingsSettings
Please wait...
Hindi Murli Quiz 14-10-2014

ये क्विज आज की मुरली पर आधारित है| मुरली सुनने के लिए यहाँ क्लिक करें| पुरानी क्विज  के लिए यहाँ क्लिक करें |


Questions and Answers
  • 1. 
    गीता किस धर्म का शास्त्र हैं ??   (उत्तर एक या एक से ज्यादा भी हो सकते हैं)
    • A. 

      सिक्खों का

    • B. 

      मुस्लिमों का

    • C. 

      हिन्दुओं का

    • D. 

      ब्राह्मणों का

    • E. 

      सूर्यवंशी देवी-देवताओं का

  • 2. 
    आज बाबा ने कहा - गुड़ जाने, गुड़ की गोथरी जाने ।(इसमें गोथरी ज्यादा 20-50 किलो भारी गुड़ को कहते हैं|) मगर इस कहावत अनुसार बाबा ने गुड़ किसको बोला हैं??
    • A. 

      ड्रामा को

    • B. 

      कर्म को

    • C. 

      परमात्मा को

    • D. 

      आत्मा को

  • 3. 
    सतयुगी कृष्ण थोड़े ही गऊयें चराता था, उसके पास तो दूध हेलीकॉप्टर में आता होगा ।
    • A. 

      True / ये वाक्य सही है

    • B. 

      False / ये वाक्य गलत है

  • 4. 
    “बाप तो फिर भी बच्चों को पुरूषार्थ कराते रहते हैं । यह बाबा भी पुरूषार्थी है । पुरूषार्थ कराने वाला तो बाप है । इसमें विचार सागर मंथन करना पड़ता है । यहाँ तो बाप बच्चों के साथ बैठे हैं । “ इसमें कितने बाप के बारे में बात हुई हैं??  
    • A. 

      कोई नहीं

    • B. 

      तीन

    • C. 

      दो

    • D. 

      एक

  • 5. 
    ______ आत्मायें कभी वायुमण्डल वा संग के रंग में नहीं आ सकती ।  
    • A. 

      शान्त

    • B. 

      सर्विसएबुल

    • C. 

      योगी

    • D. 

      प्रयोगी

    • E. 

      अनुभवी

  • 6. 
    किसी आत्मा के शरीर छूटने के बाद उसकी याद में ब्राह्मण खिलाना, गंगा में अस्थि विसर्जन इत्यादि को बाबा कहते हैं ...        
    • A. 

      समाज को दिखाने करना चाहिए

    • B. 

      ज़रूरी हैं

    • C. 

      आत्मा को शान्ति दिलाना है

    • D. 

      टाइम वेस्ट करना

  • 7. 
    आबू में दिलवाडा मन्दिर को बने ______ साल हो गए हैं ??  
    • A. 

      500

    • B. 

      1000

    • C. 

      3750

    • D. 

      1250

    • E. 

      2500

  • 8. 
    बाप और टीचर से बड़ा _____ होता है ।  
  • 9. 
    सर्व तीर्थों में यह महान् तीर्थ है....  
Back to Top Back to top