Hindi Murli Quiz 22-05-2014

10 Questions | Total Attempts: 183

SettingsSettingsSettings
Please wait...
Hindi Murli Quiz 22-05-2014

ये क्विज आज की मुरली पर आधारित है| मुरली सुनने के लिए यहाँ क्लिक करें| पुरानी क्विज के लिए यहाँ क्लिक करें


Questions and Answers
  • 1. 
    ________ की बातें बड़ी ख़ुशी-ख़ुशी से सुनाओ, लाचारी से नहीं | तुम आपस में बैठकर ______ की चर्चा करो, _______ का मनन-चिन्तन करो फिर किसी को सुनाओ
    • A. 

      बाबा

    • B. 

      ज्ञान

    • C. 

      योग

    • D. 

      मुरली

  • 2. 
    ._________ बनो, मैं आत्मा हूँ शरीर नहीं, यह है पहला पाठ यही पाठ सबको अच्छी तरह पढ़ाओ
    • A. 

      आत्मा

    • B. 

      देहिअभिमानी

    • C. 

      आत्म-अभिमानी

    • D. 

      विदेही

  • 3. 
    देवतायें खाना बहुत थोडा खाते हैं क्योंकि ख़ुशी है ना इसलिए कहा जाता है _______जैसी खुराक नहीं
    • A. 

      प्रेम

    • B. 

      घी

    • C. 

      ख़ुशी

    • D. 

      बाबा

  • 4. 
    बाप कहते हैं मैं तुमको जो ज्ञान देता हूँ वह प्रायः लोप नहीं होता है 
    • A. 

      सही

    • B. 

      गलत

  • 5. 
    बेहद के बाप को याद करने से बेहद की ­­­_______ भी ज़रूर याद आयेगी | ऐसे बाप को कितना प्यार से रेसपान्स करना चाहिए
    • A. 

      राजाई

    • B. 

      वर्सा

    • C. 

      बादशाही

    • D. 

      पढ़ाई

  • 6. 
    इस समय हम _____________ और प्रजापिता ब्रह्मा की मुख वंशावली भाई-बहन हैं
    • A. 

      ईश्वरीय विश्वाविद्यालय

    • B. 

      संगमयुग

    • C. 

      ईश्वरीय सम्प्रदाय

    • D. 

      ईश्वरीय संतान

  • 7. 
    बाप भी कहते हैं – बच्चे आओ तो तुमको बैकुण्ठ का मालिक बनाऊं, तो ज़रूर सब भागेंगे |
    • A. 

      सही

    • B. 

      गलत

  • 8. 
    जिसके लिए गायन है – साइन्स घमन्डी, कितना बुद्धि से अक्ल निकालते रहते हैं | वह हैं _______ सम्प्रदाय |
    • A. 

      ईश्वरीय

    • B. 

      कोरव

    • C. 

      पांडव

    • D. 

      यादव

  • 9. 
    ______से निर्भय बनो और आपसी समबन्धों में निर्माण बनो |  
    • A. 

      संस्कारों

    • B. 

      माया

    • C. 

      रावण

    • D. 

      पेपर

  • 10. 
    ________ ही भिन्न-भिन्न रूप से अपनी तरफ़ आकर्षित करते हैं | जहाँ किसी भी तरफ़ आकर्षण है वहाँ वैराग्य नहीं हो सकता
    • A. 

      माया

    • B. 

      स्वभाव

    • C. 

      आकर्षण

    • D. 

      संस्कार

Related Topics
Back to Top Back to top