Hindi Murli Quiz 14-08-2014

10 | Total Attempts: 263

SettingsSettingsSettings
Please wait...
Hindi Murli Quiz 14-08-2014

ये क्विज आज की मुरली पर आधारित है| मुरली सुनने के लिए यहाँ क्लिक करें| पुरानी क्विज  के लिए यहाँ क्लिक करें |


Questions and Answers
  • 1. 
    ये सब देवतायें नहीं होते परन्तु ब्राह्मण होते हैं |  (उत्तर एक या एक से ज्यादा भी हो सकते हैं)
    • A. 

      ज्ञानी

    • B. 

      पुरुषार्थी

    • C. 

      पूजनीय

    • D. 

      देह-अभिमानी

    • E. 

      डबल ताजधारी

  • 2. 
    तुम्हें पढ़ाने वाला स्वयं ज्ञान का सागर बाप है, बाकी सब हैं भक्ति के सागर ।
    • A. 

      True / ये वाक्य सही है

    • B. 

      False / ये वाक्य गलत है

  • 3. 
    "फलाने को ज्ञान का इंजेक्शन अच्छा लगा है, फलाने को कम लगा हुआ है, इनको बिल्कुल लगा हुआ ही नहीं है ।यह तो बाबा ही जानते हैं |"इसको जानने के आधार है.....
    • A. 

      सेवा

    • B. 

      पढ़ाई

    • C. 

      संकल्प

    • D. 

      धारणा

    • E. 

      योग

  • 4. 
    ब्रह्म में लीन कौन होते हैं? 
    • A. 

      कोई नहीं

    • B. 

      क्षत्रिय

    • C. 

      अष्ट रत्न

    • D. 

      भक्त

    • E. 

      सारी दुनियावाले

    • F. 

      ब्राह्मण

  • 5. 
    आज बाप ने कहा - "जैसे ब्राह्मणों को खिलाते हैं तो आत्मा तृप्त हो जाती है ।" बाबा के अनुसार इससे कौन-सी तृप्ति प्राप्त होती है?  
    • A. 

      हद की तृप्ति

    • B. 

      बेहद की तृप्ति

  • 6. 
    इस समय ये दुनिया भी _____ में गयी है और हमारा ज्ञान भी ______ का है |  
    • A. 

      बेहद

    • B. 

      अति

    • C. 

      साक्षात्कार

    • D. 

      विनाश

    • E. 

      विनाश

  • 7. 
    परमानन्द का अनुभव करने क्या चाहिए ?
    • A. 

      सम्पूर्ण पवित्रता

    • B. 

      बेहद का ज्ञान

    • C. 

      सेवा की सफलता

    • D. 

      दिव्य बुद्धि

  • 8. 
    दिव्य बुद्धि द्वारा    (उत्तर एक या एक से ज्यादा भी हो सकते हैं)
    • A. 

      बाप को, अपने आपको स्पष्ट जान सकते

    • B. 

      सर्वशक्तियों को धारण कर सकते

    • C. 

      साक्षात्कार कर सकते

    • D. 

      तीनों कालों को जान सकते

  • 9. 
    शरीर निर्वाह अर्थ _____ करते खुशी का पारा सदा चढ़ा रहे ।  
Back to Top Back to top