Hindi Murli Quiz 04-05-2014

10 Questions | Total Attempts: 132

SettingsSettingsSettings
Please wait...
Hindi Murli Quiz 04-05-2014

ये क्विज आज की मुरली पर आधारित है| मुरली सुनने के लिए यहाँ क्लिक करें| पुरानी क्विज के लिए यहाँ क्लिक करें


Questions and Answers
  • 1. 
    मुख द्वारा सुनना, सुनाना इससे ऊपर अपनी वृत्ति द्वारा वा दृष्टि द्वारा वा वायब्रेशन्स द्वारा वा अपने श्रेष्ठ अनुभवों के प्रभाव द्वारा किसी आत्माओं की सेवा करना अर्थात् सुनाना वा परिचय देना, ____ जोड़ना
    • A. 

      तार

    • B. 

      कनेक्शन

    • C. 

      सम्बन्ध

    • D. 

      परिवार

  • 2. 
    जैसे समय समीप आ रहा है, पाण्डव सेना के प्रत्यक्ष होने का ____ गुप्त रूप में फैलता जा रहा है. सेवा की रुपरेखा समय प्रमाण और सेवा प्रमाण परिवर्तन अवश्य होगी.
    • A. 

      सन्देश

    • B. 

      वाइब्रेशन

    • C. 

      आवाज़

    • D. 

      प्रभाव

  • 3. 
    जैसे आजकल भी साइन्स द्वारा हर चीज़ को क्वान्टिटी के बजाए क्वालिटी में ला रहे हैं, ऐसा छोटा सा रूप बना रहे हैं जो रूप छोटा लेकिन शक्ति अधिक भरी हुई होती है. जैसे मिठास के विस्तार को सैक्रीन के रूप में लाते हैं. विस्तार को सार में ला रहे हैं, इसी प्रकार पाण्डव सेना अर्थात् ____ की शक्ति वाली श्रेष्ठ आत्मायें भी जो एक घन्टे के भाषण द्वारा किसको परिचय दे सकते हो, वह एक सेकण्ड की पॉवरफुल दृष्टि द्वारा पॉवरफुल स्टेज द्वारा, कल्याण की भावना द्वारा, आत्मिक भाव द्वारा स्मृति दिला सकते हो वा अपरोक्ष साक्षात्कार करा सकते हो ?
    • A. 

      साइलेन्स

    • B. 

      ज्ञान

    • C. 

      योग

    • D. 

      दिव्य गुणों

  • 4. 
    अपनी शक्तियां वा समय वेस्ट करने से जमा नहीं होती और जमा न होने के कारण जो ख़ुशी वा ____ स्टेज का अनुभव होना चाहिए, वह चाहते हुए भी नहीं कर सकते.
    • A. 

      फरिश्ता

    • B. 

      शक्तिशाली

    • C. 

      संपूर्ण

    • D. 

      उपराम

  • 5. 
    जैसे आप श्रेष्ठ आत्माओं का विश्व ____ बनने का कार्य है, उसी प्रमाण समय वा शक्तियां न सिर्फ़ अपने प्रति लेकिन अनेक आत्माओं की सेवा प्रति भी स्टॉक जमा होना चाहिए.
    • A. 

      रक्षक

    • B. 

      उद्धार मूर्त

    • C. 

      कल्याणकारी

    • D. 

      सेवाधारी

  • 6. 
    अपने प्रति आवश्यक समय वा शक्तियों में से ____ का लक्ष्य रखते हुए बचत करनी चाहिए क्योंकि विश्व की सर्व आत्माएं आप श्रेष्ठ आत्माओं का परिवार है.
    • A. 

      जमा करने

    • B. 

      वृद्धि करने

    • C. 

      उपयोग करने

    • D. 

      इकॉनामी

  • 7. 
    हर खजाने की बचत करो और बजट बनाओ अर्थात् वेस्ट मत करो. हर सेकेण्ड, संकल्प या स्वयं के प्रति ____ बनाने अर्थ वा सर्व आत्माओं की सेवा अर्थ कार्य में लगाओ.
    • A. 

      संपूर्ण

    • B. 

      शक्तिशाली

    • C. 

      श्रेष्ठ

    • D. 

      गुण मूर्त

  • 8. 
    एक तो पिछले जन्मों का रहा हुआ हिसाब-किताब का बोझ समाप्त करने में लगे हो, लेकिन वह बोझ कोई बड़ी बात नहीं है, ब्राह्मण बनकर वा ब्रह्माकुमार/ब्रह्माकुमारी कहलाकर विश्व कल्याणकारी वा विश्व सेवाधारी कहलाकर फिर भी अगर ऐसा कोई विकल्प वा विकर्म करते हैं तो वह बोझ उस बोझ से ____ है
    • A. 

      सौगुणा

    • B. 

      पदम गुणा

    • C. 

      बहुत भारी

    • D. 

      बहुत ज्यादा

  • 9. 
    ऐसे कितने प्रकार के बोझ अपने संस्कारों के वश, ____ के वश, ज्ञान की बुद्धि के अभिमान वश, नाम और शान के स्वार्थ वश, स्वयं के सैल्वेशन प्राप्त करने के वश वा अलबेलेपन वा आलस्य के वश अब तक कितने बोझ उठाए हैं ?
    • A. 

      आदतों

    • B. 

      विकारों

    • C. 

      स्वभाव

    • D. 

      कमजोरियों

  • 10. 
    सदैव यह ध्यान पर रखना है कि ज्ञानी तू आत्मा कहलाते अथवा सर्विसएबुल कहलाते ऐसा कोई कर्म वा वातावरण फ़ैलाने के वायब्रेशन उत्पन्न होने के निमित्त न बने जिससे सर्विस के बजाए डिस-सर्विस हो क्योंकि सर्विस भी हो लेकिन एक बार की डिस-सर्विस ____ बार की सर्विस को समाप्त कर देती है.
    • A. 

      अनेक

    • B. 

      सौ

    • C. 

      हज़ार

    • D. 

      दस

Related Topics
Back to Top Back to top