Hindi Murli Quiz 09-05-2014

10 Questions | Total Attempts: 178

SettingsSettingsSettings
Please wait...
Hindi Murli Quiz 09-05-2014

ये क्विज आज की मुरली पर आधारित है| मुरली सुनने के लिए यहाँ क्लिक करें| पुरानी क्विज के लिए यहाँ क्लिक करें


Questions and Answers
  • 1. 
    तुम सिद्ध करके बताओ कि बेहद का बाप हमारा _____भी है, _______भी है और ______भी है, वह सर्वव्यापी नहीं हो सकता |
    • A. 

      सतगुरु बाप शिक्षक

    • B. 

      शिक्षक बाप सतगुरु

    • C. 

      बाप शिक्षक सतगुरु

    • D. 

      सतगुरु बाप शिक्षक

  • 2. 
    इस समय दुनिया में अति दुःख क्यों है, दुःख का कारण सुनाओ?
    • A. 

      सारी दुनिया पर इस समय राहू की दशा है, इसी कारण दुःख है | वृक्षपति बाप जब आते हैं तो सब पर बृहस्पति की दशा बैठती है

    • B. 

      सतयुग-त्रेता में बृहस्पति की दशा है, रावण का नाम-निशान नहीं है इसलिए वहाँ दुःख होता नहीं

    • C. 

      बाप आये हैं सुखधाम की स्थापना करने, उसमें सुख हो नहीं सकता |

    • D. 

      सभी सही हैं

  • 3. 
    यह है आत्माओं और परमात्मा का अर्थात् बच्चों और बाप का मेला | यह है _______ मिलन 
    • A. 

      बापदादा

    • B. 

      कुम्भ मेला

    • C. 

      आत्मा-परमात्मा

    • D. 

      कल्याणकारी

  • 4. 
    परमपिता को सुख में ही याद करते हैं – हे परमपिता परमात्मा |
    • A. 

      सही

    • B. 

      गलत

  • 5. 
    आज के सार से :-
    • A. 

      कलियुगी लोक लाज कुल की मर्यादा छोड़ ईश्वरीय कुल की मर्यादाओं को धारण करना है |

    • B. 

      अशरीरी बाप जो सुनाते हैं वह अशरीरी होकर सुनने का अभ्यास पक्का करना है |

    • C. 

      बेहद का बाप, बाप भी है, टीचर भी है, सतगुरु भी है, यह कान्ट्रास्ट सभी को समझाना है

    • D. 

      यह सिद्ध करना है की बेहद का बाप सर्वव्यापी नहीं है |

  • 6. 
    मैं कोई शास्त्र पढ़ने से नहीं मिलता हूँ | मुझे पुकारते भी हैं आकर पावन बनाओ | यह है तमोप्रधान किचड़े की दुनिया जो कोई काम की नहीं |
    • A. 

      सही

    • B. 

      गलत

  • 7. 
    आज के वरदान से :-
    • A. 

      यह सिद्ध करना है की बेहद का बाप सर्वव्यापी नहीं है

    • B. 

      जो बच्चे अपने स्व स्वरूप को वा बाप के सत्य परिचय को यथार्थ जान लेते हैं और उसी स्वरूप की स्मृति में रहते हैं तो उनमें सत्यता की शक्ति आ जाती है

    • C. 

      संकल्प, बोल, कर्म और सम्बन्ध-सम्पर्क सबमें दिव्यता की अनुभूति होती है | सत्यता को सिद्ध करने की आवश्यकता नहीं रहती |

    • D. 

      सभी सही हैं

  • 8. 
    ______ देने की सेवा करो तो समस्यायें सहज ही भाग जायेंगी |  
    • A. 

      दुआएं

    • B. 

      योग दान’

    • C. 

      सकाश

    • D. 

      ज्ञानधन

  • 9. 
    सतयुग-त्रेता में बृहस्पति की दशा है, ______का नाम-निशान नहीं है
    • A. 

      राहू

    • B. 

      राम

    • C. 

      रावण

    • D. 

      शनि

Related Topics
Back to Top Back to top