Hindi Murli Quiz 25-04-2014

10 Questions | Total Attempts: 159

SettingsSettingsSettings
Please wait...
Hindi Murli Quiz 25-04-2014

ये क्विज आज की मुरली पर आधारित है| मुरली सुनने के लिए यहाँ क्लिक करें| पुरानी क्विज के लिए यहाँ क्लिक करें


Questions and Answers
  • 1. 
    अब तुम्हारी सब तरफ से रगें टूट जानी चाहिए क्योंकि घर चलना है, कोई ऐसा विकर्म न हो, जो ______कुल का नाम बदनाम हो
    • A. 

      दैवी

    • B. 

      ईश्वरीय

    • C. 

      ब्राह्मण

    • D. 

      ब्रह्मा

  • 2. 
    बाप किन बच्चों को देख-देख बहुत हर्षित होते हैं? कौन-से बच्चे बाप की आँखों में समाये हुए हैं?
    • A. 

      जो बच्चे बहुतों को सुखदाई बनाते, सर्विसएबुल हैं, उन्हें देख-देख बाप भी हर्षित होते हैं

    • B. 

      जिन बच्चों की बुद्धि में रहता कि एक बाबा से ही बोलूँ, बाबा से ही बात करूँ......ऐसे बच्चे बाप की आँखों में समाये रहते हैं |

    • C. 

      किसी के भी नाम रूप में फँसकर कुल कलंकित नहीं बनना है | माया के धोखे में आकर एक-दो को दुःख नहीं देना है | बाप से समर्थी का वर्सा ले लेना है |

    • D. 

      १ और ३

  • 3. 
    ________का अभ्यास करो – यही अभ्यास अचानक के पेपर में पास करायेगा |  
    • A. 

      अशरीरिपन

    • B. 

      विदेहीपन

    • C. 

      साक्षीदृष्टा

    • D. 

      १ और २

  • 4. 
    आज के सार से :-
    • A. 

      किसी के भी नाम रूप में फँसकर कुल कलंकित नहीं बनना है | माया के धोखे में आकर एक-दो को दुःख नहीं देना है | बाप से समर्थी का वर्सा ले लेना है |

    • B. 

      अब तुम्हारी सब तरफ से रगें टूट जानी चाहिए क्योंकि घर चलना है

    • C. 

      जो बच्चे बहुतों को सुखदाई बनाते, सर्विसएबुल हैं, उन्हें देख-देख बाप भी हर्षित होते हैं

    • D. 

      सदा हर्षित रहने के संस्कार यहाँ से ही भरने है | अब पापा आत्माओं से कोई भी लेन-देन नहीं करनी है | बीमारियों आदि से डरना नहीं है, सब हिसाब-किताब अभी ही चुक्तू करने हैं |

  • 5. 
    आज के वरदान से
    • A. 

      सदा हर्षित रहने के संस्कार यहाँ से ही भरने है | अब पापा आत्माओं से कोई भी लेन-देन नहीं करनी है | बीमारियों आदि से डरना नहीं है, सब हिसाब-किताब अभी ही चुक्तू करने हैं |

    • B. 

      परवश हो जाते हैं इसलिए चेक करो और महसूसता शक्ति द्वारा पुराने छिपे हुए स्वभाव संस्कार से न्यारे बनो तब मायाजीत बनेंगे |

    • C. 

      इस पुरानी देह के स्वभाव और संस्कार बहुत कड़े हैं जो मायाजीत बनने में बड़ा विघ्न रूप बनते हैं | स्वभाव-संस्कार रूपी सांप ख़त्म भी हो जाता है लेकिन लकीर रह जाती है जो समय आने पर बार-बार धोखा दे देती है |

    • D. 

      सभी सही हैं

  • 6. 
    बाप कहते हैं अहो माया! तुम बड़ी ज़बरदस्त हो | ऐसे-ऐसे बच्चे जो ब्लड से भी लिखकर देते हैं, तुम उनको भी खा लेती हो | जैसे बाप समर्थ है, माया भी समर्थ है 
    • A. 

      गलत

    • B. 

      सही

  • 7. 
     बाप कहते हैं – बच्चे, सदैव _____रहो |
    • A. 

      खुश

    • B. 

      हर्षित

    • C. 

      मोह्जीत

    • D. 

      मुस्कुराते

  • 8. 
    बाप स्वर्ग का वर्सा देते हैं, जो कोई छीन न सके | इसमें अखण्ड, अटल, ____रहना है 
    • A. 

      साक्षी

    • B. 

      अडोल

    • C. 

      अशरीरी

    • D. 

      डोल

  • 9. 
    कब बहुत अच्छी सर्विस करते हैं, औरों को समझावन्ती फिर देवाला मारन्ती....माया बड़ी निर्बल है |
    • A. 

      गलत

    • B. 

      सही

Related Topics
Back to Top Back to top