Hindi Avyakta Murli Quiz 15-03-2014

10 Questions | Total Attempts: 112

SettingsSettingsSettings
Please wait...
Hindi Avyakta Murli Quiz 15-03-2014

Questions and Answers
  • 1. 
    बापदादा चारों ओर के बच्चों को नयनो की दृष्टि देते हुए यही मिलन मना रहे हैं बच्चे सदा हर दिन इसी मिलन के खुशी और ____ में आगे बढते चलो.
    • A. 

      शक्ति

    • B. 

      उमंग

    • C. 

      मौज

    • D. 

      नशे

  • 2. 
    जैसे दिन का नाम हैं होली, ऐसे जीवन के हर दिन होली बन अर्थात् पवित्र बन पवित्रता के ____ चारों ओर फैलाते रहो.
    • A. 

      प्रकम्पन

    • B. 

      गुण की खुशबू

    • C. 

      शक्ति की किरणें

    • D. 

      वायबेशन

  • 3. 
    आज के दिन से रोज अमृतवेले अपने पुरुषार्थ प्रमाण बाप की दुआयें स्वीकार करना. बाप की दुआयें क्या हैं ?  बापदादा हर बच्चे को ____ स्वरूप में देखने चाहते हैं.
    • A. 

      अनादी पवित्र

    • B. 

      तीव्र पुरुषार्थी

    • C. 

      फरिश्ता

    • D. 

      देवताई

  • 4. 
    कोई भी बाते आये, बातो का काम हैं आना लेकिन आप बच्चों का काम हैं बाप के दिल की दुआयें लेना. रोज अमृतवेले अपने को बाप की दुआयें स्वीकार करना. सारा दिन ऐसे अनुभव करो कि बापदादा हमारे ____ बन साथ में हैं और बाप के साथ का अर्थ क्या है ? बाप जो कहे, अमृतवेले जो मुरली सुनते हो उसमें याद प्यार के साथ दुआयें हैं ही. तो रोज दुआयें लेते उडते चलो और उडाते चलो.
    • A. 

      रक्षक

    • B. 

      सद्गुरु

    • C. 

      विघ्न हरता

    • D. 

      साथी

  • 5. 
    होली मनाना अर्थात् बीती को और वर्तमान को सदा सफलता स्वरूप बनाना हैं. सफलता स्वरूप हैं, सफलता हमारे जन्म का वरदान है. उस स्मृति से दिन को बार-बार याद करो, बापदादा का वरदान है - सफलता हर बच्चे के साथ है क्योंकि बापदादा साथ है तो सफलता सदा एक-एक बच्चे के साथ है, सिर्फ उसको ____ में लाना है.
    • A. 

      प्रत्यक्ष

    • B. 

      अमल

    • C. 

      प्रैक्टिकल

    • D. 

      स्वरुप

  • 6. 
    आज के दिन यही वरदान स्मृति में रखना कि सफलता हमारा जन्म सिद्ध अधिकार है. यह स्मृति ____ की बात को भी सफल बना देगी.
    • A. 

      कमजोरी

    • B. 

      असफलता

    • C. 

      विघ्न रूप

    • D. 

      अनिश्चितता

  • 7. 
    होली अर्थात् बीती सो बीती. होली अर्थात् बीती. तो जो भी कुछ किया उसको आज बीती सो बीती कर आगे के लिए सफलता मेंरा जन्म अधिकार है, ____ रोज इस वरदान को स्मृति में रख सारा दिन चेक करना और सफलता स्वरूप बनना.
    • A. 

      सवेरे-सवेरे

    • B. 

      दिन की शुरुवात में

    • C. 

      पहले दिन रात्री को सोने से पहले

    • D. 

      अमृतवेले

  • 8. 
    अभी तो बहुत ____ बने हो, दुनिया को पैगाम देते हो और बापदादा भी हर बच्चे को यह वरदान देते हैं कि सफलता आपका जन्म का अधिकार है. तो अमृतवेले का सफलता मेरा जन्म सिद्ध अधिकार है, इसको रोज स्मृति में रखना और प्रैक्टिकल में अगर कोई भी बात आवे तो सफलता के वरदान को याद करना और प्रैक्टिकल में लाना.
    • A. 

      नॉलेजफुल

    • B. 

      सेवाधारी

    • C. 

      धारणा युक्त

    • D. 

      एलर्ट

  • 9. 
    आज के होली के दिन का विशेष वरदान है - बाप समान, ब्रह्मा बाप समान सम्पन्न बनना ही है. फालो फादर. क्योंकि ब्रह्मा बाप साकार रूप में थे, अभी भी ____ हैं इसलिए फालो ब्रह्मा बाप.
    • A. 

      पालना कर रहे

    • B. 

      अव्यक्त रूप

    • C. 

      Example

    • D. 

      मददगार

  • 10. 
    जहाँ सफलता अधिकार है वहाँ माया की क्या बडी बात है ! माया के खेल देखते रहो, माया का काम है आना आपका काम क्या है ? ____ प्राप्त करना.
    • A. 

      सम्पूर्णता को

    • B. 

      बेफिकर बादशाह की स्थिति

    • C. 

      विजय

    • D. 

      राजाई

Back to Top Back to top