Hindi Murli Quiz 18-09-2015

12 | Total Attempts: 149

SettingsSettingsSettings
Please wait...
Hindi Murli Quiz 18-09-2015

.


Questions and Answers
  • 1. 
     बाप आये हैं तुम्हें कर्म-अकर्म-विकर्म की गुह्य गति सुनाने, जब आत्मा और शरीर दोनों पवित्र हैं तो कर्म सत्कर्म होते हैं, पतित होने से विकर्म होते हैं|” 
    • A. 

      True

    • B. 

      False

  • 2. 
     कट चढ़ी हुई है तो उसकी निशानी क्या होगी? 
    • A. 

      पुरानी दुनिया की कशिश होती रहेगी।

    • B. 

      बुद्धि क्रिमिनल तरफ जाती रहेगी।

    • C. 

      याद में रह नहीं सकेंगे।

    • D. 

      अमृतवेला भी बाप को याद नहीं करेंगे |

  • 3. 
     ____________कहने से ही यह निश्चय हो जाता है कि हम आत्मायें यहाँ की रहवासी नहीं हैं।
    • A. 

      ओम् शान्ति

    • B. 

      अहम् ब्रह्मास्मि

    • C. 

      हम सो

    • D. 

      स्वर्ग

  • 4. 
     एक भी मनुष्य नहीं ......
    • A. 

      जिससे विकर्म न होता हो।

    • B. 

      जो बाप को जानता हो |

    • C. 

      जिसको सृष्टि के आदि मध्य अंत का राज़ मालूम हो |

    • D. 

      जो अपने को परमात्मा समझता हो |

  • 5. 
     साधू-सन्यासी आदि से विकर्म नहीं हो सकता क्योंकि वह पवित्र रहते हैं। 
    • A. 

      True

    • B. 

      False

  • 6. 
     तुम ___ हो ना। ___ को ही भाषण पर बुलाते हैं। महाराजाओं को भी समझाना है। 
    • A. 

      महारथी

    • B. 

      ब्राह्मण

    • C. 

      पवित्र

    • D. 

      ज्ञान गंगा

  • 7. 
     अब जो भी समझाते हैं वह तो __ चिता पर बैठ न सकें। परन्तु ऐसे भी हैं जो औरों को समझाते-समझाते __ चिता पर बैठ जाते हैं। 
  • 8. 
     कौन शूद्र समान पतित गाये जाते हैं ?
    • A. 

      जो प्रतिज्ञा करने के बाद भी विकार में गिर पड़ते हैं |

    • B. 

      जिनमें लड़ने के संस्कार होते हैं |

    • C. 

      जो बहनों को गलत दृष्टि से देखते हैं |

    • D. 

      जो अहंकार वश ज्ञान मार्ग पर चलना छोड़ देते हैं |

  • 9. 
     महारथी बच्चों को माया कभी गिरा नहीं सकती | वे विकार में जा नहीं सकते |
    • A. 

      True

    • B. 

      False

  • 10. 
     अभी-अभी स्थूल कार्य कर रहे हैं, अभी-अभी अशरीरी हो गये-यह अभ्यास ____ का साक्षात्कार करायेगा। 
    • A. 

      फरिश्ते पन

    • B. 

      कर्मातीत अवस्था

    • C. 

      बाप

    • D. 

      निराकारी स्वरुप

  • 11. 
     ___ को कायम रखने के लिए आत्मा रूपी दीपक में ज्ञान का घृत रोज़ डालते रहो।
Back to Top Back to top