Hindi Murli Quiz 31-07-2015

10 Questions | Total Attempts: 188

SettingsSettingsSettings
Please wait...
Hindi Murli Quiz 31-07-2015

.


Questions and Answers
  • 1. 
     इनमें से सही वाक्यों का चयन करें -
    • A. 

      बच्चों ने अपने बाप की महिमा सुनी। महिमा एक की ही है। और कोई की महिमा गाई नहीं जा सकती।

    • B. 

      पवित्र रहने वाले को अच्छा कहा जाता है। अच्छा पढ़कर बड़ा आदमी बनता है तो महिमा होती है।

    • C. 

      यह पढ़ाई ऐसी है, खटिया पर सोये हुए भी पढ़ सकते हो।

    • D. 

      दूसरे धर्म वालों को भी तुम समझा सकते हो। कोई को भी यह बताना है-तुम आत्मा हो।

    • E. 

      सब एक ही बाप के बच्चे हैं। आत्माओं को बाबा ने एडाप्ट किया है इसलिए ब्रह्मा मुख वंशावली गाये जाते हैं।

  • 2. 
     मीठे बच्चे - सदा एक ही ____ में रहो कि हमें अच्छी रीति पढ़कर अपने को राजतिलक देना है, पढ़ाई से ही राजाई मिलती है|
    • A. 

      फिक्र

    • B. 

      फक्र

    • C. 

      नशे

    • D. 

      ख़ुमारी

  • 3. 
     बच्चों को किस हुल्लास में रहना है? 
    • A. 

      हमें इन लक्ष्मी-नारायण जैसा बनना है, इसका पुरूषार्थ करना है।

    • B. 

      कोई को भी समझा सकते हो-आत्मा का बाप कौन है?

    • C. 

      भारत को ही मदर कन्ट्री कहा जाता है क्योंकि यहाँ ही शिवबाबा मात-पिता के रूप में पार्ट बजाते हैं।

    • D. 

      तुम बच्चे कलियुग से संगम्युग पर आ गए हो|

  • 4. 
     आज के गीत का चयन करें -
    • A. 

      तुम्हें पाकर हमने ......

    • B. 

      तुम्हीं हो माता पिता .......

    • C. 

      भोलेनाथ से निराला......

    • D. 

      ओम नमः शिवाय

  • 5. 
     इनमें से गलत वाक्यों का चयन करें -
    • A. 

      अभी तुम पावन हो, यह है ही आइरन एजेड तमोप्रधान दुनिया। अभी तुमको जाना है वापिस घर।

    • B. 

      ऐसा नहीं है कि आत्मायें स्वीट होम में पवित्र ही रहती हैं |

    • C. 

      विश्व में शान्ति बाप ही कर सकते हैं और कोई की ताकत नहीं।

    • D. 

      बाप ही नॉलेजफुल है। परन्तु उनमें कौन-सी नॉलेज है, यह कोई नहीं जानते हैं।

    • E. 

      मनुष्य तो कभी कहेंगे सर्वव्यापी है या कहते सबके अन्दर को जानने वाला है। यह है आटे में लून जितनी सच्चाई|

  • 6. 
     यहाँ जो कुछ हो रहा है, जिसमें मनुष्य खुशी समझते हैं वह सब दु:ख के लिए है। यह है विनाशी खुशियाँ। अविनाशी खुशी, अविनाशी बाप से ही मिलती है। तुम समझते हो बाबा हमको इन लक्ष्मी-नारायण जैसा बनाते हैं।
    • A. 

      True

    • B. 

      False

  • 7. 
     वैसे आगे तो 21 जन्म के लिए लिखते थे। अभी बाबा लिखते हैं 50-60 जन्म क्योंकि द्वापर में भी पहले तो बहुत धनवान सुखी रहते हो ना। भल पतित बनते हो तो भी धन बहुत रहता है। यह तो बिल्कुल जब तमोप्रधान बनते हैं तब दु:ख शुरू होता है। पहले तो सुखी रहते हो। जब बहुत दु:खी होते हो तब बाप आते हैं। महा अजामिल जैसे पापियों का भी उद्धार करते हैं। 
    • A. 

      True

    • B. 

      False

  • 8. 
     बाप कहते हैं इसलिए मैं थोड़ेही आया हूँ, जो एक-एक की बुद्धि का ताला बैठ खोलूँ। फिर तो सबकी बुद्धि खुल जाए, सब महाराजा-महारानी बन जायें। हम कैसे सबका ताला खोलेंगे। उनको सतयुग में आना ही नहीं होगा तो हम ताला कैसे खोलेंगे! ड्रामा अनुसार समय पर ही उनकी बुद्धि खुलेगी। मै कैसे खोलूँगा! ड्रामा के ऊपर भी है ना।
    • A. 

      True

    • B. 

      False

Back to Top Back to top