Hindi Murli Quiz 19-03-2015

10 | Total Attempts: 196

SettingsSettingsSettings
Please wait...
Hindi Murli Quiz 19-03-2015

ये क्विज आज की मुरली पर आधारित है| मुरली सुनने के लिए यहाँ क्लिक करें| पुरानी क्विज  के लिए यहाँ क्लिक करें |


Questions and Answers
  • 1. 
     जिन बच्चों को ईश्वरीय सन्तान की स्मृति रहती है उनकी सही निशानियाँ / विशेषताएं चयन करें --- 
    • A. 

      उनका सच्चा लव एक बाप से होगा।

    • B. 

      ईश्वरीय सन्तान कभी भी लड़ेंगे, झगड़ेंगे नहीं।

    • C. 

      उनकी कुदृष्टि कभी नहीं हो सकती,क्योंकि वे ब्रह्माकुमार-कुमारी अर्थात् बहन-भाई बनते हैं

    • D. 

      वे सतयुग में दैवी संतान होंगे I

    • E. 

      वे पूरे कल्प में कभी आसुरी संतान नहीं बनेंगे I

  • 2. 
    तुम आत्मायें जहाँ रहती हो वह है तुम आत्माओं और बाबा का देश। फिर तुम स्वर्ग में जाते हो, जिसकी बाबा स्थापना कराते हैं। बाप खुद उस स्वर्ग में नहीं आते। खुद तो वाणी से परे वानप्रस्थ में जाकर रहते हैं। स्वर्ग में उनकी दरकार नहीं। वह तो दु:ख-सुख से न्यारे हैं ना। तुम तो सुख में आते हो, तो दु:ख में भी आते हो।  
    • A. 

      True / ये वाक्य सही है

    • B. 

      False / ये वाक्य गलत है

  • 3. 
      "बाबा ने आकाश --------- छोड़कर अब दादा के तन को अपना --------- बनाया है, वह छोड़कर यहाँ आकर बैठे हैं। यह आकाश तत्व तो है जीव आत्माओं का ---------। आत्माओं का ----------है वह महतत्व, जहाँ तुम आत्मायें बिगर शरीर रहती थी और फिर --------- छोड़कर यहाँ इस शरीर को अपना ---------- बनाती हो।"   [ निम्नलिखित विकल्पों में से एक सटीक उत्तर से सभी रिक्त स्थान भरें ]   
    • A. 

      सिंहासन

    • B. 

      रथ

    • C. 

      तत्व

    • D. 

      आधार

  • 4. 
    बाप कहते हैं अपने ऊपर भी रहमदिल बनो। बेरहमी नहीं बनो। 'अपने ऊपर रहम करना'- इसका क्या तात्पर्य है ? इसे सही पॉइंट्स चयन करके स्पष्ट करें ------ 
    • A. 

      बाप को याद कर पतित से पावन बनना है।

    • B. 

      कभी भी पतित बनने का पुरूषार्थ नहीं करना है।

    • C. 

      दृष्टि बड़ी अच्छी रखनी है ।

    • D. 

      ईश्वर ने हमको एडाप्ट किया है, सूक्ष्मवतनवासी फरिश्ता बनकर फिर देवता बनना है

    • E. 

      आराम करना है, मेहनत वाला पुरुषार्थ नहीं करना है

  • 5. 
    "यहाँ है टाकी, सूक्ष्मवतन में है मूवी, मूलवतन में है साइलेन्स। सूक्ष्मवतन है फरिश्तों का। जैसे घोस्ट को छाया का शरीर होता है ना। आत्मा को शरीर नहीं मिलता है तो भटकती रहती है, उनको घोस्ट कहा जाता है। उनको इन आंखों से भी देख सकते हैं। यह फिर हैं सूक्ष्मवतनवासी फरिश्ते"
    • A. 

      True

    • B. 

      False

  • 6. 
    तुम बच्चों को अपनी अवस्था --------- बनाने के लिए सब कुछ देखते हुए जैसे कि देखते ही नहीं हैं, यह अभ्यास करना है। इसमें बुद्धि को ---------- रखना हिम्मत की बात है। परफेक्ट होने में मेहनत लगती है, टाइम चाहिए। जब कर्मातीत अवस्था हो तब वह दृष्टि बैठे, तब तक कुछ न कुछ खींच होती रहेगी। इसमें बिल्कुल उपराम होना पड़ता है।[निम्नलिखित विकल्पों में से एक सुबसे सटीक उत्तर से सभी रिक्त स्थान भरें ]     
    • A. 

      एकरस

    • B. 

      निर्मल

    • C. 

      दिव्य

    • D. 

      अलौकिक

  • 7. 
    सभी सही वाक्यों का चयन करें --- 
    • A. 

      लक्ष्मी-नारायण कोई एक तो नहीं है ना। उन्हों की तो डिनायस्टी होगी I

    • B. 

      सतयुग में माँ-बाप बच्चे का पांव धोकर राज-तिलक देते हैं, राज्य-भाग्य देते हैं।

    • C. 

      तुम्हारा सारा कनेक्शन है ही गीता के साथ। गीता में ज्ञान भी है तो योग भी है।

    • D. 

      सम्पूर्ण, कर्मातीत अवस्था को प्राप्त करने के लिए सदा उपराम रहने का अभ्यास करना है।

    • E. 

      दृढ़ता कड़े संस्कारों को भी मोम की तरह पिघला (खत्म कर) देती है।

Back to Top Back to top