Hindi Murli Quiz 31-10-2017

8 Questions | Total Attempts: 67

SettingsSettingsSettings
Please wait...
Hindi Murli Quiz 31-10-2017

.


Questions and Answers
  • 1. 
    Q.“ मनुष्य जो बाप को भूल------------में फंसे हुए हैं, उन्हें निकालने की मेहनत करो, विचार सागर मंथन कर सबको बाप का सत्य परिचय दोI”निम्नलिखित विकल्पों में से एक सबसे सटीक शब्द से उपरोक्त रिक्त स्थान भरें I 
    • A. 

      दुबन (दलदल)

    • B. 

      झंझट

    • C. 

      पुरानी-दुनिया

    • D. 

      विकारों

  • 2. 
    Q.निम्नलिखित वाक्य सही हैं या गलत -चयन करें I “गीता है - ब्राह्मण देवी-देवता धर्म का शास्त्र। इसे सिर्फ देवता-धर्म का शास्त्र नहीं कहेंगे क्योंकि देवताओं में तो यह ज्ञान है ही नहीं। ब्राह्मण ही गीता का ज्ञान सुनकर देवता बनते हैं, इसलिए ब्राह्मण देवी-देवता दोनों का ही यह शास्त्र है। यह कोई हिन्दू धर्म का शास्त्र नहीं कहा जाता। यह बहुत समझने की बातें हैं। गीता ज्ञान स्वयं निराकार शिवबाबा तुम्हें सुना रहे हैं, श्रीकृष्ण नहीं।” 
    • A. 

      गलत

    • B. 

      सही

  • 3. 
    Q. “बाप कहते हैं यह दुनिया तो है ही नर्क। यहाँ जो भी बच्चे आदि पैदा होते हैं- एक दो को दु:ख देते रहते हैं। बच्चे जानते हैं आज नर्कवासी फिर संगमवासी बनते हैं, कल फिर स्वर्गवासी बनेंगे, इसलिए--------- कर रहे हैं।”निम्नलिखित विकल्पों में से एक सबसे सटीक शब्द से उपरोक्त रिक्त स्थान भरें I 
    • A. 

      पुरुषार्थ

    • B. 

      जल्दी

    • C. 

      इन्तजाम

    • D. 

      इन्तजार

  • 4. 
    Q. धारणा के लिए केवल सही पॉइंट्स चयन करें --- 
    • A. 

      विचार सागर मंथन कर मनुष्यों को दुबन (दलदल) से निकालना है।

    • B. 

      जो कुम्भकरण की नींद से जगे हुए हैं उन्हों को सुलाना है।

    • C. 

      सूक्ष्म अथवा स्थूल देहधारियों से बुद्धियोग निकाल एक निराकार बाप को याद करना है।

    • D. 

      सबका बुद्धियोग एक बाप से जुटाना है।

  • 5. 
    Q.वरदान :-- “जैसे बाप मर्सीफुल है ऐसे बाप समान मर्सीफुल बनोI संगमयुग पर बाप द्वारा जो वरदानों का खजाना मिला है उसे जितना बढ़ाना चाहो उतना दूसरों को देते जाओ। अपनी मन्सा-वृत्ति से वायुमण्डल द्वारा भी आत्माओं को अपनी मिली हुई शक्तियां दो। जब थोड़े समय में सारे विश्व की सेवा सम्पन्न करनी है तो तीव्रगति से सेवा करो। जितना स्वयं को सेवा में बिजी करेंगे उतना सहज मायाजीत भी बन जायेंगे।” 
    • A. 

      सही

    • B. 

      गलत

  • 6. 
    Q. “अपने सन्तुष्ट और खुशनुम-जीवन से हर कदम में सेवा करने वाले ही सच्चे---------हैं।”निम्नलिखित विकल्पों में से एक सबसे सटीक शब्द से उपरोक्त रिक्त स्थान भरकर स्लोगन पूरा करें I 
    • A. 

      सेवाधारी

    • B. 

      विश्व-कल्याणकारी

    • C. 

      ब्राह्मण

    • D. 

      फ़रिश्ता

Back to Top Back to top