Hindi Murli Quiz 25-12-2014

10 | Total Attempts: 85

SettingsSettingsSettings
Please wait...
Hindi Murli Quiz 25-12-2014

ये क्विज आज की मुरली पर आधारित है| मुरली सुनने के लिए यहाँ क्लिक करें| पुरानी क्विज  के लिए यहाँ क्लिक करें |


Questions and Answers
  • 1. 
    बाप से हमको रोज मीठी-मीठी शिक्षाये मिलती है जो उनके ऊंचे प्यार की निशानी है I आज की मुरली के अनुसार बाप द्वारा मिली शिक्षाओं का चयन करें ---                                                                                                   
    • A. 

      श्रीमत के बिगर कोई उल्टा-सुल्टा काम नही करना I

    • B. 

      तुम स्टुडेंट हो तुम्हें अपने हाथ में कभी भी लॉ नहीं उठाना है ।

    • C. 

      तुम अपने मुख से सदैव रत्न निकालो, पत्थर नही ।

    • D. 

      कमसे कम 8 घंटा सेवा जरूर करना है I

  • 2. 
    कोई भी काम श्रीमत बिगर नही करना चाहिए । बाप ध्यान के लिए भी डायरेक्यान देते हैं सिर्फ भोग लगाकर आओ । बाबा यह तो कहते नही कि वैकुण्ठ मे जाओ, रास-विलास आदि करो । दूसरी जगह गये तो समझो माया की प्रवेशता हुई । माया का नम्बरवन कर्तव्य है पतित बनाना, बेकायदे चलन से नुकसान बहुत होता है ।                             
    • A. 

      True

    • B. 

      False

  • 3. 
    संगम को आत्माओं और परमात्मा का मेला कहा जाता है । फिर 5 हजार वर्ष बाद मिलेंगे I  इसमे जितना वर्सा लेना चाहो ले सकते हो । नही तो बहुत-बहुत पछतायेगे, रोयेगे । सब -------हो जायेगा ।[एक सही उत्तर से रिक्त स्थान भरें ]                                                                   
    • A. 

      साक्षात्कार

    • B. 

      समाप्त

    • C. 

      भरपूर

    • D. 

      खाली

  • 4. 
    बाबा ने शिक्षा दी है कि सारा दिन कोई न कोई की निंदा करना, परचिंतन करना, इनको ही  दैवीगुण कहा जाता है । देवताये ऐसा ही काम करते हैं ।                                 
    • A. 

      True

    • B. 

      False

  • 5. 
    तुम एक-दो की ग्लानि क्यों करते हो I बाप सुनता तो सब-कुछ है ना । बाप ने कानों और आखो का लोन लिया है ना । बाप भी देखते हैं तो यह दादा भी देखते हैं । चलन, वातावरण तो कोई-कोई का बिल्कुल ही बेकायदे चलता है । सुधरने के बदले और ही बिगड़ते हैं, इसलिए अपना ही पद गँवाते हैं ।                                                               
    • A. 

      True

    • B. 

      False

  • 6. 
    हम शिवबाबा को अपना बनाते है, उनकी पूरी मिलकियत लेने । जो बच्चे बन गये हैं, वह घराने मे जरूर आते हैं । परन्तु फिर उसमें पद कितने हैं । कितने दास-दासिया हैं । एक-दो पर हुक्म चलाते हैं । दासियों में भी नम्बरवार बनते हैं । रॉयल घराने में बाहर के दास-दासियाँ तो नही आयेंगे ना I जो बाप के बने हैं, उनको ही बनना है ।                                           
    • A. 

      True

    • B. 

      False

  • 7. 
    यह प्रश्न वरदान के आधार पर है I बहुत समझकर उत्तर दें ----जैसे स्थूल लाइट का स्विच आन करने से अंधकार समाप्त हो जाता है, ऐसे समर्थ स्थिति के स्विच को ऑन करो तो व्यर्थ का अन्धकार समाप्त हो जायेगा । जब स्थिति समर्थ होगी तो महादानी-वरदानी बन जायेंगे क्योकि दाता का अर्थ ही है समर्थ । जहाँ समर्थ है वहाँ व्यर्थ खत्म हो जाता है । तो यही अव्यक्त फरिश्तो का श्रेष्ठ कार्य है ।
    • A. 

      True

    • B. 

      False

Back to Top Back to top