Hindi Murli Quiz 23-01-2015

10 | Total Attempts: 242

SettingsSettingsSettings
Please wait...
Hindi Murli Quiz 23-01-2015

ये क्विज आज की मुरली पर आधारित है| मुरली सुनने के लिए यहाँ क्लिक करें| पुरानी क्विज  के लिए यहाँ क्लिक करें |


Questions and Answers
  • 1. 
    ब्रह्मा के वर्तमान  (2015 के) स्वरूप को हम इनमें से कौन-सा रूप कह सकते हैं ??(उत्तर एक या एक से ज्यादा भी हो सकते हैं)
    • A. 

      अव्यक्त

    • B. 

      फ़रिश्ता

    • C. 

      आकारी

    • D. 

      साकारी

    • E. 

      निराकारी

    • F. 

      श्री कृष्ण

  • 2. 
    बाप कहते हैं ये ब्रह्मा हैं नम्बरवन पतित इसलिए मैं इनमें आता हूँ ।
    • A. 

      True / ये वाक्य सही है

    • B. 

      False / ये वाक्य गलत है

  • 3. 
    ग्लानि करने वाले को गुणमाला पहनाना अर्थात् उनको जन्म-जन्म के लिए _____  निश्चित कर देना है ।  
    • A. 

      भक्त

    • B. 

      साथी

    • C. 

      सम्बन्धी

    • D. 

      महादानी

  • 4. 
    हम सब ब्राह्मण _______ इस ज्ञान को धारण कर पुरुषार्थ करते हैं |   
    • A. 

      सूर्यवंशी बनने

    • B. 

      घर वापिस जाने

    • C. 

      इस जन्म के दुःख-दर्द दूर करने

    • D. 

      साक्षात्कार करने

  • 5. 
    ज्ञान की दृष्टि से ज़मीन में से लाखों वर्ष पुरानी हड्डियाँ मिलना सत्य हैं या असत्य ??इसके पीछे तर्क कौन-सा हैं ? 
    • A. 

      True / ये वाक्य सही है

    • B. 

      False / ये वाक्य गलत है

  • 6. 
    इनमें से कौन-सा वाक्य सही हैं ??  और क्यों ???(अपना जवाब सोच कर यहाँ दिए उत्तर से मिलाना)  
    • A. 

      भक्ति का फल हमें संगमयुग और सतयुग दोनों युग में मिलता हैं |

    • B. 

      भक्ति का फल हमें संगमयुग में मिलता हैं |

    • C. 

      भक्ति का फल हमें सतयुग में मिलता हैं |

  • 7. 
    ज्ञान की गुह्य दृष्टि से हमारे यज्ञ को इसमें से क्या कहना सबसे उचित हैं ?? 
    • A. 

      परिवार

    • B. 

      संस्था

    • C. 

      विद्यालय

    • D. 

      विश्व विद्यालय

    • E. 

      विश्व विद्यालय

  • 8. 
    इनमें से पुरुषोत्तम किस-किसको कहा जा सकता हैं ?? (उत्तर एक या एक से ज्यादा भी हो सकते हैं)
    • A. 

      देवताओं को

    • B. 

      संगमयुग को

    • C. 

      ब्राह्मणों को

    • D. 

      परमात्मा को

    • E. 

      शंकर को

  • 9. 
    बाप कहते हैं कि -   सत्य वाक्यों पर निशान लगायें और गलत वाक्यों को ऐसे ही छोड़ दें |(उत्तर एक या एक से ज्यादा भी हो सकते हैं)
    • A. 

      तुम देवी-देवताओं की ग्लानि करते तब मैं आता हूँ ।

    • B. 

      मैं परमात्मा किसी बंधन में बंध नहीं सकता |

    • C. 

      शास्त्र पढ़ना, तीर्थ आदि करना - यह सब भगवान से मिलने के रास्ते हैं ।

    • D. 

      अभी साहूकारों के लिए स्वर्ग है गरीब बिचारे नर्क में है ।

    • E. 

      सर्वव्यापी, कच्छ-मच्छ में परमात्मा कहना यह परमात्मा की ग्लानि करना हैं ।

    • F. 

      मुझे भगवान तो कहते हैं परन्तु जानते कोई भी नहीं हैं ।

Back to Top Back to top