Hindi Murli Quiz 22-09-2015

10 | Total Attempts: 180

SettingsSettingsSettings
Please wait...
Hindi Murli Quiz 22-09-2015

.


Questions and Answers
  • 1. 
    आज के प्रश्न उत्तर अनुसार अपना कल्याण करने के लिए क्या करना होगा?
    • A. 

      सर्विस पर लगे रहना होगा

    • B. 

      संतुष्ट रहना होगा

    • C. 

      औरों को बाप समान बनाना होगा

    • D. 

      पुरूषार्थ करना होगा

  • 2. 
    रूहानी बच्चे क्या जानते है
    • A. 

      सतयुग की स्थापना हो रही है

    • B. 

      बाप ब्रह्मा द्वारा समझा रहे हैं।

    • C. 

      काम महाशत्रु है

  • 3. 
    बच्चे क्या प्रतिज्ञा करते हैं?
    • A. 

      बाप को प्रत्यक्ष करेंगे

    • B. 

      श्रीमत पर हम इस भारत की भूमि को पतित से पावन बनायेंगे।

  • 4. 
    सही वाक्य पर टिक्क करे
    • A. 

      सब मन्दिर लायक बनते हैं

    • B. 

      तीर नहीं लगता क्यूंकि बाप को याद नहीं करते

    • C. 

      बाप भी सर्विस पर है

  • 5. 
    अगर छोटेपन से ही नॉलेज में लग जाएं तो क्या होगा
    • A. 

      धारणा होती जायेगी।

    • B. 

      समझेंगे इसने बहुत भक्ति की हुई है

    • C. 

      समझेंगे बहुत होशियार हो जाए

  • 6. 
    प्रवृत्ति से निवृत्त होना अर्थात् (आज के मुरली अनुसार)
    • A. 

      साक्षी होना

    • B. 

      मैं पन को समाप्त करना

    • C. 

      ट्रस्टी होना

  • 7. 
    नष्टोमोहा अर्थात् न्यारा बनने के लिए क्या करना चाहिए
    • A. 

      इस बेहद नाटक में हर एक का पार्ट आत्म-अभिमानी होकर देखना चाहिए

    • B. 

      जैसे बापदादा साक्षी है वैसे साक्षी होकर प्रवृत्ति में रहना है

    • C. 

      बापदादा के स्नेह रूप को सामने रख स्मृति स्वरूप बनना है

  • 8. 
    प्रभू का प्यार लेने के लिए क्या करना होगा
    • A. 

      सदा प्रभु की याद में रहो

    • B. 

      अनेक प्रकार की प्रवृत्ति से निवृत्त रहो

    • C. 

      कमल फूल समान न्यारे रहो

  • 9. 
    मन्दिर लायक बनने के लिए किन बातों पर विशेष ध्यान देना है? 
    • A. 

      चलन बहुत मीठी होनी चाहिए। और रॉयल होनी चाहिए।

    • B. 

      चलन पर विशेष ध्यान दो

    • C. 

      कमल फूल समान न्यारे रहो

    • D. 

      चलन बहुत रॉयल होनी चाहिए।

    • E. 

      प्रवृत्ति से निवृत्त रहो

Back to Top Back to top