Hindi Murli Quiz 22-01-2015

10 | Total Attempts: 237

SettingsSettingsSettings
Please wait...
Hindi Murli Quiz 22-01-2015

ये क्विज आज की मुरली पर आधारित है| मुरली सुनने के लिए यहाँ क्लिक करें| पुरानी क्विज  के लिए यहाँ क्लिक करें |


Questions and Answers
  • 1. 
      मीठे बच्चे - तुम्हारी नज़र ---------पर नहीं जानी चाहिए, अपने को आत्मा समझो, ---------को मत देखो' I[निम्नलिखित में से एक सही उत्तर से रिक्त स्थान भरें ]  
    • A. 

      शरीरों

    • B. 

      पदार्थों

    • C. 

      पुरानी दुनिया

    • D. 

      बीती बातों

  • 2. 
    सब आत्मायें शरीर छोड्कर वापिस जानी हैं । पाण्डव और कौरव दोनो को शरीर छोड़ना है । तुम यह ज्ञान के संस्कार ले जाते हो फिर उस अनुसार प्रालब्ध मिलती है । वह भी ड़ामा मे नूंध है फिर ज्ञान का पार्ट खत्म हो जाता है । तुमको 84 जन्मो के बाद फिर ज्ञान मिला है । फिर यह ज्ञान प्राय: लोप हो जाता है । तुम प्रालब्ध भोगते हो । 
    • A. 

      True

    • B. 

      False

  • 3. 
    हमको देवता बनना है I दैवी गुण धारण करने हैं I यह 5 विकार हैं भूत । नम्बरवन है काम का भूत, सेकण्ड नम्बर है क्रोध का भूत । कोई रफठफ बोलता है तो बाप कहते हैं यह क्रोधी है । यह भूत निकल जाना चाहिए । क्रोध एक-दो को दु :ख देता है । मोह में बहुतों को दु :ख नहीं होगा, जिसको मोह है उनको ही दु :ख होगा I इसलिए बाप समझाते है इन भूतों को भगाओ ।
    • A. 

      True

    • B. 

      False

  • 4. 
    कोई गुस्सा करता है तो समझो इनमे क्रोध का ----- है । वह जैसे भूतनाथ- भूतनाथिनी बन जाते है, ऐसे ------वालों से कभी बात नही करनी चाहिए । एक ने क्रोध में आकर बात की फिर दूसरे में भी ------- आ गया तो ------ आपस मे लड़ पड़ेंगे । ----- की प्रवेशता नहीं हो जाए इसलिए मनुष्य किनारा करते हैं I -------- के सामने खड़ा भी नही होना चाहिए, नही तो प्रवेशता हो जायेगी । हमारे मे क्रोध न आ जाए, नही तो सौ गुणा पाप पड़ जायेगा ।[निम्नलिखित में से एक सबसे सटीक उत्तर से ही सभी रिक्त स्थान भरें ]  
    • A. 

      भूत

    • B. 

      विकार

    • C. 

      अंश

    • D. 

      प्रभाव

  • 5. 
    बाबा ने आज धारणा के लिए कुछ पॉइंट्स दिये हैं I उन सबका चयन करें --- 
    • A. 

      ज्ञान का सिमरण कर अतीन्द्रिय सुख मे रहना है ।

    • B. 

      किसी से भी रफठफ बातचीत नही करनी है ।

    • C. 

      कोई गुस्से से बात करे तो उससे किनारा कर लेना है ।

    • D. 

      भगवान का वारिस बनने के लिए पहले उन्हें अपना वारिस बनाना है ।

    • E. 

      समझदार बन अपना सब बाप हवाले कर ममत्व मिटा देना है ।

    • F. 

      अमृतबेला कभी मिस नहीं करना है I

  • 6. 
    आज के वरदान के अनुसार परमात्म प्रत्यक्षता न होने के विभिन्न कारण स्पष्ट करें --- 
    • A. 

      किसी भी प्रकार की अस्वच्छता अर्थात् सच्चाई सफाई की कमी,

    • B. 

      अपने ही तमोगुणी सस्कारो पर विजयी बनने में भय,

    • C. 

      अपने सस्कार मिलाने में भय,

    • D. 

      विश्व सेवा के क्षेत्र मे अपने सिद्धान्तो को सिद्ध करने मे भय,

    • E. 

      उपरोक्त कारणों से रमता योगी वा सहज राजयोगी बनने में कठिनाई ।

  • 7. 
    “बेहद की दृष्टि, वृत्ति ही ------------------का आधार है इसलिए हद में नही आओ ।“[निम्नलिखित में से एक सही उत्तर से रिक्त स्थान भरें]     
    • A. 

      यूनिटी

    • B. 

      पवित्रता

    • C. 

      उन्नति

    • D. 

      सुख -शान्ति

Back to Top Back to top