Hindi Murli Quiz 21-12-2014

10 | Total Attempts: 202

SettingsSettingsSettings
Please wait...
Hindi Murli Quiz 21-12-2014

ये क्विज आज की मुरली पर आधारित है| मुरली सुनने के लिए यहाँ क्लिक करें| पुरानी क्विज  के लिए यहाँ क्लिक करें |


Questions and Answers
  • 1. 
    "-----------ही आप ब्राह्मण आत्माओ की प्रासपर्टी है । ----------- ही विश्व परिवर्तन का आधार है I  ----------- के कारण ही आज तक भी विश्व आपके जड़ चित्रो को चैतन्य से भी श्रेष्ठ समझता है । आजकल की नामीग्रामी आत्माये भी -----------के आगे सिर झुकाती रहती हैं । ऐसी -----------तुम बच्चो को बाप द्वारा जन्म-सिद्ध अधिकार में प्राप्त होती है ।"[एक सही उत्तर से सभी रिक्त स्थान भरें ]
    • A. 

      प्युरिटी

    • B. 

      निर्मान-भाव

    • C. 

      संतुष्टता

    • D. 

      सेवा

    • E. 

      वर्सा

  • 2. 
    "प्युरिटी की परिभाषा तुम बच्चो के लिए अति साधारण है क्योकि स्मृति आई कि वास्तविक आत्म स्वरूप है ही सदा प्योर । अनादि स्वरूप भी पवित्र आत्मा है और आदि स्वरूप भी पवित्र देवता है, और अब का अन्तिम जन्म भी पवित्र ब्राह्मण जीवन है । इस स्मृति के आधार पर पवित्र जीवन बनाना अति सहज अनुभव होगा I"  
    • A. 

      True

    • B. 

      False

  • 3. 
    बापदादा ने विदेशियों की कुछ विशेषताओं का जिक्र किया है जिसके कारण वे नंबर आगे ले रहे हैं I उन सभी विशेषताओं का चयन करें ---  
    • A. 

      आने से ही अपने को इसी परिवार व धर्म की बहुत पुरानी आत्माये अनुभव करते है I

    • B. 

      मेहनत ज्यादा नहीं लेते, सहज ही कल्प पहले की स्मृति जागृत हो जाती है ।

    • C. 

      सहज राजयोग में मैजारटी विदेशी आत्माओ को अनुभव भी बहुत अच्छे और सहज होने लगते हैं ।

    • D. 

      सहज राजयोग की तरफ विशेष आकर्षण होने के कारण निश्चय का फाउन्डेशन मजबूत हो जाता है ।

  • 4. 
    जनरल प्रोग्राम के साथ-साथ विशेष आत्माओ की सेवा करो, उसके लिए मेहनत जरूर लगेगी लेकिन सफलता आपका जन्मसिद्ध अधिकार है I  यह नहीं सोचो बहुत किया है फल नही दिखाई देता । फल तैयार हो रहे हैं । कोई भी कर्म का फल निष्फल हो ही नही सकता, क्योकि बाप की याद मे करते हो ना । 
    • A. 

      True

    • B. 

      False

  • 5. 
    कलियुग की यही विशेषता है जो हर घड़ी हर संकल्प अपना भाग्य बना सकते हो! जितना चाहो भाग्य बनाने का चान्स है, प्राप्ति का समय अभी ज्यादा नही है इसलिए जितना चाहो उतना अभी कर लो, नही तो यह प्राप्ति का समय याद आयेगा कि करना चाहिए था लेकिन किया नही! अपने याद की यात्रा को पावरफुल बनाते जाओ । संकल्प मे सर्व शक्तियो का सार भरते जाओ । हर संकल्प मे शक्ति भरते रहो । संकल्प की शक्ति से भी बहुत सेवा कर सकते हो । 
    • A. 

      True

    • B. 

      False

  • 6. 
    आज के स्लोगन अनुसार :   "ज्ञान नेत्र से तीनों कालों और तीनो लोकों को जानने वाले ------------------हैं ।"[एक सही उत्तर चयन करें और रिक्त स्थान भरें ]   
    • A. 

      मास्टर नॉलेजफुल,

    • B. 

      मास्टर त्रिकालदर्शी

    • C. 

      मास्टर त्रिलोकीनाथ

    • D. 

      त्रिनेत्री

Back to Top Back to top