Hindi Murli Quiz 20-08-2017

8 Questions | Total Attempts: 291

SettingsSettingsSettings
Please wait...
Hindi Murli Quiz 20-08-2017

.


Questions and Answers
  • 1. 
    Q.निम्नलिखित वाक्य सत्य हैं या असत्य --चयन करें I  "बड़े दिन पर जो भी आत्मा सम्पर्क में आवे उसको ईश्वरीय अलौकिक स्नेह, शक्ति, गुण, सर्व का सहयोग देने की लिफ्ट की गिफ्ट दो। जिससे ऐसी सम्पन्न आत्मायें बन जाए जो कोई भी अप्राप्ति अनुभव न करें। लेकिन औरों को देने के लिए पहले अपने पास जमा होगा तब तो दे सकेंगे ना।” 
    • A. 

      सत्य

    • B. 

      असत्य

  • 2. 
    Q. केवल सही वाक्य ही चयन करें --- 
    • A. 

      ’करनकरावनहार’में बच्चे (करावनहार) और बाप (करनहार) दोनों कम्बाइन्ड हैं। हाथ बाप का और काम बच्चों का।

    • B. 

      पहले 8 की माला तैयार हो गई तो फिर और पीछे वाले तैयार हो ही जायेंगे। आठ को एवररेडी होना हैI

    • C. 

      बाप-पसन्द, ब्राह्मणपरिवार-पसन्द और विश्व की सेवा के पसन्द। यह तीनों विशेषता जब होंगी तब कहेंगे एवररेडी हैं।

    • D. 

      श्रेष्ठ संकल्पों की सफलता जरूर होती हैI एक श्रेष्ठ संकल्प बच्चे का और हजार श्रेष्ठ संकल्प का फल बाप द्वारा प्राप्त हो जाता है।

  • 3. 
    Q.निम्नलिखित वाक्य सत्य हैं या असत्य—चयन करें I “एयरकन्डीशन की सीट बुक कराने के लिए बाप ने जो भी कन्डीशन्स बताई हैं उन पर सदा चलते रहो। अगर कोई भी कन्डीशन को अमल में नहीं लाया तो एयरकन्डीशन की सीट नहीं मिल सकेगी। जो कहते हैं कोशिश करेंगे तो ऐसे कोशिश करने वालों को भी यह सीट नहीं मिल सकती है।” 
    • A. 

      सत्य

    • B. 

      असत्य

  • 4. 
    Q. “एक दो को आगे बढ़ाने का गुण अर्थात् “पहले आप” का गुण परमार्थ और व्यवहार दोनों में ही सर्व का प्रिय बना देता है।--------का भी यही मुख्य-गुण है कि ‘बच्चे पहले आप’I तो इसी गुण में फालो-फादर।”निम्नलिखित विकल्पों में से एक सबसे सटीक शब्द से उपरोक्त रिक्त स्थान भरें I 
    • A. 

      टीचर

    • B. 

      बाप

    • C. 

      सद्गुरु

    • D. 

      साजन

  • 5. 
    Q.निम्नलिखित वाक्य सत्य हैं या असत्य ---चयन करें I  "समय की समीपता प्रमाण वर्तमान-समय के वायुमण्डल में बेहद का वैराग्य प्रत्यक्ष रूप में होना आवश्यक है। यथार्थ वैराग्य-वृत्ति का अर्थ है-सर्व के सम्बन्ध-सम्पर्क में जितना न्यारा, उतना प्यारा। जो न्यारा-प्यारा है वह निमित्त और निर्मान है, उसमें मेरेपन का भान आ नहीं सकता। वर्तमान समय मेरापन रॉयल रूप से बढ़ गया है-कहेंगे ये मेरा ही काम है, मेरा ही स्थान है, मुझे यह सब साधन भाग्य अनुसार मिले हैं, तो अब ऐसे रायल रूप के मेरेपन को समाप्त करो।” 
    • A. 

      सत्य

    • B. 

      असत्य

  • 6. 
    Q. “परचिंतन के प्रभाव से मुक्त होना है तो शुभचिंतन करो और------------- बनो।”निम्नलिखित विकल्पों में से एक सबसे सटीक शब्द से उपरोक्त रिक्त स्थान भरें I 
    • A. 

      शुभ-चिन्तक

    • B. 

      निश्चिन्त

    • C. 

      ट्रस्टी

    • D. 

      उपराम

Back to Top Back to top