Hindi Murli Quiz 15-01-2017

10

Settings
Please wait...
Hindi Murli Quiz 15-01-2017

यह क्विज मुरली रिवाइज करने के लिए है I 


Questions and Answers
  • 1. 
    CBQ. मुरली के अनुसार आज के दिन (18 जनवरी) का महत्व--– 
    • A. 

      आज के दिन ब्रह्मा बाप ने नयनों की दृष्टि द्वारा, हाथ में हाथ मिलाते, साकारी जिम्मेवारियों का ताज बच्चों को अर्पण किया।

    • B. 

      आज का दिन ब्रह्मा बाप का बच्चों को ``बाप समान भव'' के वरदान देने का दिन है।

    • C. 

      आज का दिन बच्चों को अलौकिक प्रॉपर्टी विल करने का दिवस है।

    • D. 

      आज का दिन - स्नेह और शक्ति कम्बाईन्ड वरदानी दिन है।

    • E. 

      आज का दिन विशेष बाप समान वरदानी बनने का दिवस है।

  • 2. 
    Q. “ब्रह्मा बाप के अन्तिम संकल्प के बोल वा नयनों के इशारे के बोल थे ‘बच्चे, सदा बाप के सहयोग की विधि द्वारा वृद्धि को पाते रहेंगे।' ब्रह्मा बाप के इस अन्तिम वरदान का साकार स्वरूप आप सब हो। वरदान के बीज से निकले हुए आप वैरायटी फल हो। साइंस के साधनों से तो बहुत प्रयत्न कर रहे हैं कि एक वृक्ष में वैरायटी फल निकलें लेकिन ब्रह्मा बाप के वरदान का वृक्ष, सहज योग की पालना से पला हुआ वृक्ष कितना विचित्र और दिलखुश करने वाला वृक्ष है। एक ही वृक्ष में वैरायटी फल हैं।” 
    • A. 

      सही

    • B. 

      गलत

  • 3. 
    Q. “ जैसे ब्रह्मा को आदि में वरदान मिला------- । ऐसे ही ब्रह्मा बाप ने भी बच्चों को विशेष---------का वरदान दिया। तो आप विशेष-----------के वरदान के अधिकारी वारिस हो। इसी वरदान को सदा स्मृति में रखना अर्थात् समर्थ आत्मा होना। इसी वरदान की समृति से जैसे ब्रह्मा बाप के हर कर्म में बाप प्रत्यक्ष अनुभव करते थे, ऐसे आपके हर कर्म में ब्रह्मा बाप प्रत्यक्ष होगा।”निम्नलिखित विकल्पों में से केवल एक सबसे सटीक उत्तर से उपरोक्त तीनों रिक्त स्थान भरें I 
    • A. 

      तत-त्वम्

    • B. 

      योगी-भव

    • C. 

      पवित्र-भव

  • 4. 
    Q. “ ब्रह्मा बाप शरीर के बन्धन से बन्धनमुक्त हो तीव्रगति से सहयोगी बन गये क्योंकि ड्रामा अनुसार वृद्धि होने की अनादि नूंध थी। सूर्य विश्व में रोशनी तब दे सकता है जब ऊंचा है। तो साकार सृष्टि को सकाश देने के लिए ब्रह्मा बाप को भी ऊंचे स्थान निवासी बनना ही था। अब तो सेकण्ड में जहाँ चाहें अपना कार्य कर सकते और करा सकते हैं। मुख द्वारा व पत्रों द्वारा कैसे इतना कार्य करते इसलिए तीव्र विधि द्वारा बच्चों के सहयोगी बन कार्य कर रहे हैं। सबसे तीव्रगति की सेवा का साधन है - संकल्प शक्ति। तो ब्रह्मा बाप श्रेष्ठ संकल्प की विधि द्वारा वृद्धि में सदा सहयोगी हैं।” 
    • A. 

      गलत

    • B. 

      सही

  • 5. 
    Q. यू.एन.ओ. में सेवा पर बापदादा के वाक्य एवं सुझाव चयन करें --- 
    • A. 

      यू.एन.ओ. में जो सम्पर्क बढ़ा रहे हो, यह सम्पर्क बढ़ना ही सेवा है।

    • B. 

      जितना हो सके उन्हों को होमली सम्पर्क में ले आओ। उनको प्रेम की पालना दोI

    • C. 

      जो भी सम्पर्क सम्बन्ध में आते हैं वे अनुभव करें कि यह कोई बहुत समीप की आत्मा खोई हुई मिली है।

    • D. 

      जितना-जितना नजदीक आते रहेंगे वह अनुभव करेंगे कि इन्हों के पास वही है जो उनको चाहिए।

  • 6. 
    Q. “याद और नि:स्वार्थ सेवा द्वारा------------बनना ही विजयी बनना है।निम्नलिखित विकल्पों में से एक सबसे सटीक शब्द से उपरोक्त रिक्त स्थान भरकर स्लोगन पूरा करें I 
    • A. 

      मायाजीत

    • B. 

      प्रकृतिजीत

    • C. 

      सम्पूर्ण

    • D. 

      सम्पन्न

  • 7. 
    Q. निम्नलिखित रिक्त स्थान भरें –“आप विशेष आत्माओं की --------द्वारा शिव-शक्ति और साथ में ब्रह्मा-बाप, ऐसे साक्षात्कार चारों ओर शुरू हो जायेगा। ब्रह्माकुमारी के बजाए ब्रह्मा बाप दिखाई देगा। साधारण स्वरूप के बजाए शिवशक्ति स्वरूप दिखाई देगा।”