Hindi Murli Quiz 13-08-2017

8 Questions | Total Attempts: 259

SettingsSettingsSettings
Please wait...
Hindi Murli Quiz 13-08-2017

.यह क्विज आज कि मुरली रिवाइज़ करने में मदद करेगा I 


Questions and Answers
  • 1. 
    Q.निम्नलिखित वाक्य सत्य हैं या असत्य --चयन करें I  "शुरू-शुरू में आदि स्थापना के समय एक दो को लिखते थे और बोलते थे--“प्रिय-निज-आत्मा”। यही आत्म-अभिमानी बनने और बनाने का सहज साधन रहा। नाम, रूप नहीं देखते थे। इतना नैचुरल रूप रहा कि मेहनत नही करनी पड़ीI यही आदि-शब्द अभी गुह्य-रहस्य सहित प्रैक्टिकल में लाओ तो स्वत: ही स्मृति-स्वरूप हो जायेंगे।” 
    • A. 

      सत्य

    • B. 

      असत्य

  • 2. 
    Q. “आप सब आत्माओं की आश है कि विश्व एक हो जाए, विश्व में स्नेह हो, प्यार हो, लड़ाई-झगड़ा न हो, यही आश पूर्ण होने का समय पहुँच गया है। लेकिन उसके लिए-------यथार्थ हो तो सिद्धि भी होगी। वास्तव में लड़ाई-झगड़े का बीज ‘क्रोध’ खत्म हो जाए तो शस्त्र आदि होते भी यूज नहीं करना पड़े। तो उसी -------पूर्वक बीज को ही खत्म कर दें तो सिद्धि हुई पड़ी है।”निम्नलिखित विकल्पों में से एक सबसे सटीक शब्द से उपरोक्त दोनों रिक्त स्थान भरें I 
    • A. 

      विधि

    • B. 

      पुरुषार्थ

    • C. 

      लगन

    • D. 

      त्याग

  • 3. 
    Q.निम्नलिखित वाक्य सत्य हैं या नही,चयन करें I “एक का मन्त्र - एक बाप, एक घर, एकमत, एकरस, एक राज्य, एक धर्म, एकनाम आत्मा, एक रूप, तो एक का यह मन्त्र सदा याद रहे तो सर्व में एक दिखाई देगा। जब एक ही दिखाई देगा तो जो गीत गाते हो मेरा तो एक बाप... यह स्वत: ही होगा।” 
    • A. 

      सत्य

    • B. 

      असत्य

  • 4. 
    Q.केवल सही वाक्य चुनें ----- 
    • A. 

      माला की विशेषता है एक दो के संस्कारों के समीप। दाने से दाना मिला हुआ,वैरायटी संस्कार होते भी समीप दिखाई दें।

    • B. 

      सेवा समझ निमित्त बन सहयोग का सहारा देना और सहारे दाता बन सहारा देना, इसमें अन्तर हो जाता है।

    • C. 

      दादियाँ स्थूल में निमित्त-छत्रछाया है। वैसे तो बाप की छत्रछाया हैं लेकिन निमित्त यह अनुभवी आत्मायें मास्टर-छत्रछाया हैं।

    • D. 

      जब बाप साथ है तो सफलता कहीं नही जायेगी। जहाँ बाप है वहाँ सर्व सिद्धियाँ साथ हैं।

    • E. 

      जो होता सबमें कल्याण भरा हुआ है। ऐसा-क्यों वा क्या नहीं करो। परिवर्तन किया और आगे बढ़ो। यह है बिन्दी लगाना।

  • 5. 
    Q.निम्नलिखित वाक्य सत्य हैं या असत्य --चयन करें I  "जैसे स्थूल-कर्मेन्द्रियां जिस समय जैसा आर्डर करते हो वैसे आर्डर से चलती हैं, ऐसे सूक्ष्म-शक्तियां भी आर्डर पर चलने वाली हों। उसके लिए जितना-जितना मास्टर-सर्वशक्तिमान् की सीट पर सेट होंगे उतना ये सर्व-शक्तियां आर्डर में रहेंगी। यदि यह सर्व शक्तियाँ अभी से आर्डर पर होंगी तब ही अन्त में सफलता प्राप्त कर सकेंगे क्योंकि जहाँ सर्व-शक्तियाँ हैं, वहाँ सफलता जन्म-सिद्ध अधिकार है।” 
    • A. 

      असत्य

    • B. 

      सत्य

  • 6. 
    Q.“आकारी और निराकारी स्थिति में सहज स्थित होना है तो----------बनो।”निम्नलिखित विकल्पों में से एक सबसे सटीक शब्द से उपरोक्त रिक्त स्थान भरकर स्लोगन पूरा करें I 
    • A. 

      निरंहकारी

    • B. 

      निर्विकारी

    • C. 

      उपराम

    • D. 

      बन्धनमुक्त