Hindi Murli Quiz 09-04-2017

10 | Total Attempts: 113

SettingsSettingsSettings
Please wait...
Hindi Murli Quiz 09-04-2017

.


Questions and Answers
  • 1. 
    Q.18 जनवरी का दिवस अर्थात स्मृति-दिवस का महत्व बताएं----- 
    • A. 

      स्मृति-दिवस सो समर्थ-दिवस है।

    • B. 

      स्मृति-दिवस बच्चों को सर्व-शक्तियां विल में देने का दिवस है।

    • C. 

      इस दिन बापदादा बच्चों की कमाल के गीत गा रहे थे।

    • D. 

      इस दिन बच्चों ने बापदादा को प्यार की मालायें पहनाई I

    • E. 

      बापदादा ऐसे समय पर निमित्त बने हुए बच्चों को दिल से प्यार दे रहे हैं।

  • 2. 
    Q.“आज वतन में भी सभी विशेष आदि रत्न और सेवा के आदि रत्न इमर्ज हुए। एडवांस पार्टा कहती है हम तो तैयार हैं, यह प्रत्यक्षता का नगाड़ा बजायें तो हम सभी प्रत्यक्ष होकर नई सृष्टि की रचना के निमित्त बनेंगे। हम तो आह्वान कर रहे हैं कि नई सृष्टि की रचना करने वाले आवें। अभी काम सारा आपके ऊपर है। नगाड़ा बजाओ। आ गया, आ गया... का नगाड़ा बजाओ।”  
    • A. 

      सही

    • B. 

      गलत

  • 3. 
    Q.“आदि रत्न और सेवा के निमित्त--दोनों प्रकार के बच्चों की दो विशेषतायें बहुत अच्छी रही, पहली विशेषता है, संगठन की -------और दूसरी विशेषता है कि एक ने कहा दूसरे ने माना।“निम्नलिखित विकल्पों में से एक सबसे सटीक शब्द से उपरोक्त रिक्त स्थान भरें I 
    • A. 

      यूनिटी

    • B. 

      ताकत

    • C. 

      विधि

  • 4. 
    Q. “ब्रह्मा-बाप की तपस्या का प्रभाव”-- इस विषय पर सही वाक्य चयन करें ------ 
    • A. 

      ब्रह्मा बाप ने शुरू से ही तन, मन, धन, सम्बन्ध, सर्व प्राप्ति होते हुए भी त्याग किया, जिसका फल आप बच्चों को मिल रहा है।

    • B. 

      सब साधन होते हुए स्वयं पुराने में ही रहे और साधना वा तपस्या में अटल रहे।

    • C. 

      ब्रह्मा के इस त्याग ने संकल्प-शक्ति को सेवा का विशेष-पार्ट बनाया,जिससे फास्ट वृद्धि हो रही है।

    • D. 

      तपस्या का प्रभाव इस मधुबन भूमि में समाया हुआ है,बच्चे अनुभव करते हैं कि यहाँ के वायब्रेशन सहजयोगी बना देते हैं।

    • E. 

      इस मधुबन भूमि में कैसी भी आत्मायें आती हैं, वह अलौकिक प्यार और शान्ति का अनुभव करके ही जाती हैं।

  • 5. 
    Q.”जैसे साइन्स का बल अपना प्रभाव प्रत्यक्ष रूप में दिखा रहा है, ऐसे साइन्स की रचयिता अर्थात साइलेन्स-बल को अभी प्रत्यक्ष दिखाने का समय है। साइलेन्स-बल का वायब्रेशन तीव्रगति से फैलाने का साधन है-मन-बुद्धि की ----------------। इस शक्ति द्वारा ही वायुमण्डल बना सकते हो। हलचल के कारण पावरफुल वायब्रेशन बन नहीं पाते I“निम्नलिखित विकल्पों में से एक सबसे सटीक शब्द से उपरोक्त रिक्त स्थान भरें I 
    • A. 

      एकाग्रता

    • B. 

      सहनशीलता

    • C. 

      दृढ़ता

  • 6. 
    Q.”कभी भी अपनी स्नेही मूर्त, स्नेह की सीरत, स्नेही व्यवहार, स्नेह के सम्पर्क-सम्बन्ध को छोड़ना, भूलना मत। चाहे कोई व्यक्ति, चाहे प्रकृति, चाहे माया कैसा भी विकराल रूप, ज्वाला रूप धारण कर सामने आये लेकिन उसे सदा स्नेह की शीतलता द्वारा परिवर्तन करते रहना। स्नेह की दृष्टि, वृत्ति और कृति द्वारा स्नेही सृष्टि बनाना।“ 
    • A. 

      सही

    • B. 

      गलत

  • 7. 
    MCQ. “कठिनाईयों को पार करने से ----------आती है इसलिए उनसे घबराओ मत।“निम्नलिखित विकल्पों में से एक सबसे सटीक शब्द से उपरोक्त रिक्त स्थान भरें I 
    • A. 

      ताकत

    • B. 

      हिम्मत

    • C. 

      सफलता

Back to Top Back to top