Hindi Murli Quiz 07-02-2015

10

Settings
Please wait...
History Quizzes & Trivia

ये क्विज आज की मुरली पर आधारित है| मुरली सुनने के लिए यहाँ क्लिक करें| पुरानी क्विज  के लिए यहाँ क्लिक करें |


Questions and Answers
  • 1. 
    बाबा ने आज किस - किस बुद्धि की बात की ?  (उत्तर एक या एक से ज्यादा भी हो सकते हैं)
    • A. 

      तमोप्रधान

    • B. 

      रावण

    • C. 

      ईश्वरीय

    • D. 

      पत्थर

    • E. 

      सेन्सीबुल

    • F. 

      स्वच्छ

    • G. 

      प्लेन

  • 2. 
    शिव भगवानुवाच-याद में सब बहुत कच्चे हैं ।   
    • A. 

      True / ये वाक्य सही है

    • B. 

      False / ये वाक्य गलत है

  • 3. 
    उठते बैठते क्या समझना है ?  
    • A. 

      अब यह शरीर तो छोड़ना है ।

    • B. 

      याद को ज्ञान नहीं कहा जाता ।

    • C. 

      हम 84 जन्म कैसे लेते हैं, तमोप्रधान से सतोप्रधान, सतोप्रधान से तमोप्रधान कैसे बनते हैं |

    • D. 

      अब सतोप्रधान बनना है बाप की याद से ।

  • 4. 
    अभी तो हर एक को समझाना चाहिए-  ( एक ही उत्तर का चयन करें )
    • A. 

      इस समय सब नर्कवासी हैं फिर स्वर्गवासी भी भारतवासी ही बनते हैं ।

    • B. 

      मनुष्य तो जो कुछ बोलते हैं सो झूठ ।

    • C. 

      हर चीज सतो, रजो, तमो में जरूर आती है ।

  • 5. 
    यह है भाग्यशाली रथ , इनमें भगवान की प्रवेशता है ना |   
    • A. 

      True / ये वाक्य सही है

    • B. 

      False / ये वाक्य गलत है

  • 6. 
    जब स्वदर्शन चक्र राइट तरफ चलने के बजाए रांग तरफ चल जाता है तब मायाजीत बनने के बजाए पर के दर्शन के उलझन के चक्र में आ जाते हो जिससे क्यों और क्या के क्वेश्चन की जाल बन जाती है जो स्वयं ही रचते और फिर स्वयं ही फंस जाते इसलिए नॉलेजफुल बन स्वदर्शन चक्र फिराते रहो तो क्यों क्या के क्वेश्चन की जाल से मुक्त हो योगयुक्त, जीवनमुक्त, चक्रवर्ती बन बाप के साथ विश्व कल्याण की सेवा में चक्र लगाते रहेंगे । विश्व सेवाधारी चक्रवर्ती राजा बन जायेंगे ।
    • A. 

      True

    • B. 

      False

  • 7. 
    इनमें से सही वाक्यों का चयन करें |( उत्तर एक से अधिक भी हो सकते हैं )
    • A. 

      अच्छे- अच्छे बच्चे जो मुरली तो बहुत अच्छी चलाते हैं परन्तु याद में बिल्कुल कमजोर हैं ।

    • B. 

      आत्मा जानती है यह सारी दुनिया खलास होनी है, अब हम जाते हैं अपने घर । फिर आयेंगे राजधानी में । यह सदैव बुद्धि में रहना चाहिए ।

    • C. 

      ईश्वर को ही योगेश्वर कहा जाता है |

    • D. 

      यहाँ आकर जो पाप करते हैं वह तो और ही सौगुणा सजा खायेंगे ।

    • E. 

      इसलिए सच्ची-सच्ची माला 8 की बनी है । 8 रत्न गाये जाते हैं । 108 रत्न कब सुने हैं? 108 रत्नों की कोई चीज नहीं बनाते हैं । बहुत हैं जो इन बातों को पूरा समझते नहीं हैं ।

  • 8. 
    नाम भी जानते हैं परन्तु पत्थरबुद्धि ऐसे हैं ....यहाँ किसके नाम की बात हो रही है |
    • A. 

      सतयुग, त्रेता, द्वापर, कलियुग यह चक्र है ।

    • B. 

      कुम्भकरण

    • C. 

      रावण

    • D. 

      लक्ष्मी- नारायण

    • E. 

      शिवबाबा

    • F. 

      प्रजापिता ब्रह्मा

  • 9. 
    अगर कलियुग अभी भी चलेगा तो और घोर अन्धियारा हो जायेगा इसलिए गाया हुआ है-
    • A. 

      कुम्भकरण की नींद में सोये हुए थे और विनाश हो गया ।

    • B. 

      ज्ञान सूर्य प्रगटा , अज्ञान अंधेर विनाश |

    • C. 

      सेकेण्ड में जीवनमुक्ति ।

    • D. 

      अन्धे की औलाद अन्धे और दूसरे हैं सज्जे की औलाद सज्जे ।