Hindi Murli Quiz 06-02-2015

10 | Total Attempts: 274

SettingsSettingsSettings
Please wait...
Hindi Murli Quiz 06-02-2015

ये क्विज आज की मुरली पर आधारित है| मुरली सुनने के लिए यहाँ क्लिक करें| पुरानी क्विज  के लिए यहाँ क्लिक करें |


Questions and Answers
  • 1. 
    इनमें से सन्यासी आदि क्या समझते हैं ?  (उत्तर एक या एक से ज्यादा भी हो सकते हैं)
    • A. 

      शान्ति को बाहर नहीं ढूंढना है ।

    • B. 

      हम आत्मा हैं |

    • C. 

      हम आत्मा शान्तिधाम में रहने वाली हैं ।

  • 2. 
    कृष्ण को याद करने से तो एक भी पाप नहीं कटेगा क्योंकि ..( हर एक उत्तर कुछ न कुछ ठीक हो सकता है परन्तु आज की मुरली अनुसार  एक ही उत्तर चुनें ) 
    • A. 

      वह तो शरीरधारी है ।​

    • B. 

      वह भगवान नहीं है |

    • C. 

      वह सबका बाप नहीं है |

    • D. 

      वह सतयुग का फर्स्ट प्रिंस है |

  • 3. 
    बाप को याद करने से ही विकर्म विनाश होंगे । खास याद करना होता है अपने को बच्चा समझकर ।
    • A. 

      True / ये वाक्य सही है

    • B. 

      False / ये वाक्य गलत है

  • 4. 
    आजकल फीमेल्स का मान भी है ...( आज की मुरली एक ही उत्तर चुनें )  
    • A. 

      क्योंकि बाप आये हैं ना ।

    • B. 

      क्योंकि यह है ही कलियुग |

    • C. 

      क्योंकि उनमें विकारों की चेष्टा कम है |

    • D. 

      क्योंकि आज कल फोरेन वालों को कापी करते हैं |

  • 5. 
    अगर मनुष्य अपने को भगवान कहलाते भी हैं तो ...( आज की मुरली के अनुसार ही एक उत्तर चुनें )  
    • A. 

      ऐसे कभी नहीं कहेंगे कि तुम सब हमारे बच्चे हो ।

    • B. 

      ऐसे कभी नहीं कहेंगे कि हमें याद करो तो तुम्हारे विकर्म - विनाश हो जायेंगे |

    • C. 

      ऐसे कभी नहीं कहेंगे कि हम सृष्टि के आदि मध्य अंत को जानते हैं |

  • 6. 
    तो अपने को आत्मा समझ बाप को याद करने से ही विकार छूटेंगे । देह- अभिमान आने से विकार की चेष्टा होती है । ज्ञानी कभी विकार में नहीं जायेंगे ।   
    • A. 

      True / ये वाक्य सही है

    • B. 

      False / ये वाक्य गलत है

  • 7. 
    किसलिए काम को महाशत्रु कहा है ?
    • A. 

      हिंसा

    • B. 

      अपवित्रता

    • C. 

      देह - अभिमान

    • D. 

      विकारी

  • 8. 
    तुम बच्चे अडोल बन याद करते रहो ...
    • A. 

      तो जल्दी कर्मातीत अवस्था हो जाए और आत्मा वापिस चली जाए ।

    • B. 

      तो तुम्हारा ज्ञान तीर सबको लग जाए |

    • C. 

      तो तुम जल्द ही स्थापना कर दो और विनाश हो जाए |

    • D. 

      तो तुम यह सारा पहाड़ उठाए सोने का पहाड़ स्थापन कर दो |

  • 9. 
    जो विष्णु की शेश शैया दिखाते हैं यह आप विजयी बच्चों के सहजयोगी जीवन का यादगार है । सहजयोग द्वारा विकारों रूपी सांप भी अधीन हो जाते हैं । जो बच्चे विकारों रूपी सांपों पर विजय प्राप्त कर उन्हें आराम की शैया बना देते हैं वह सदा विष्णु के समान हर्षित व निश्चिंत रहते हैं । तो सदा यह चित्र अपने सामने देखो कि विकारों को अधीन किया हुआ अधिकारी हूँ । आत्मा सदा आराम की स्थिति में निश्चिंत है ।
    • A. 

      True

    • B. 

      False

Back to Top Back to top