Hindi Murli Quiz 04-04-2015

10 | Total Attempts: 188

SettingsSettingsSettings
Please wait...
Hindi Murli Quiz 04-04-2015

ये क्विज आज की मुरली पर आधारित है| मुरली सुनने के लिए यहाँ क्लिक करें| पुरानी क्विज  के लिए यहाँ क्लिक करें |


Questions and Answers
  • 1. 
     “बाप तुम्हें ---------------बनाने के लिए पढ़ा रहे हैं, तुम अभी कनिष्ट से उत्तम पुरूष बनते हो, सबसे उत्तम हैं देवतायें”[निम्नलिखित विकल्पों में से एक सबसे सटीक उत्तर से रिक्त स्थान भरें ]   
    • A. 

      पुरूषोत्तम

    • B. 

      देवता

    • C. 

      ब्रह्मण

    • D. 

      फ़रिश्ता

  • 2. 
    "बच्चों को यहाँ देह सहित देह के सब सम्बन्धों को भूल आत्म-अभिमानी होकर शरीर छोड़ने में बहुत मेहनत करनी पड़ती है। सतयुग में बिना मेहनत बैठे-बैठे शरीर छोड़ देंगे। अभी यही मेहनत वा अभ्यास करते हो कि हम आत्मा हैं, हमें इस पुरानी दुनिया पुराने शरीर को छोड़ना है, नया लेना है। सतयुग में इस अभ्यास की जरूरत ही नहीं।"
    • A. 

      True / ये वाक्य सही है

    • B. 

      False / ये वाक्य गलत है

  • 3. 
    सतयुग में आत्मा सतोप्रधान थी तो सुन्दर शरीर मिला। फिर -------------पर बैठने से काले तमोप्रधान हो गये, तो शरीर भी सांवरा मिलता है, सुन्दर से श्याम बन गये। चित्रों में कृष्ण का चित्र सांवरा बना देते हैं परन्तु अर्थ नहीं समझते। अभी तुम समझते हो सतोप्रधान थे तो सुन्दर थे। अभी तमोप्रधान श्याम बने हैं।[एक सबसे सटीक उत्तर से रिक्त स्थान भरें ]    
    • A. 

      काम-चिता

    • B. 

      ज्ञान -चिता

    • C. 

      दिल-तख़्त

    • D. 

      जमीन

  • 4. 
    लक्ष्मी-नारायण का राज्य था फिर आधाकल्प बाद रावण राज्य शुरू होता है I बाकी ऐसे नहीं कि युद्ध में कोई ने हराया। न लड़ाई से राज्य लेते हैं, न गंवाते हैं। यह तो योग में रह पवित्र बन पवित्र राज्य तुम स्थापन करते हो। यह है डबल आहिंसा। एक तो पवित्रता की आहिंसा, दूसरा तुम किसको दु:ख नहीं देते। 
    • A. 

      True

    • B. 

      False

  • 5. 
    –धारणा पर आधारित इस प्रश्न में सिर्फ सही उत्तर ही चयन करें --- 
    • A. 

      ब्रह्मा बाबा के समान अपना सब कुछ ट्रांसफर कर फुल पॉवर बाप को देना है I

    • B. 

      ट्रस्टी अर्थात बोझ और ग्रहस्थी अर्थात हल्कापन-इसी बात को स्म्रति में रखना है I और कुछ भी सोचना नहीं है I

    • C. 

      प्रैक्टिस करनी है अन्तकाल में एक बाप के सिवाए और कोई भी चीज याद न आये।

    • D. 

      अल्फ और बे, इसी स्मृति से पास हो विजयमाला में आना है।

  • 6. 
    ."हर ----------------में दृढ़ता की विशेषता को प्रैक्टिकल में लाओ तो प्रत्यक्षता हो जायेगी।"[निम्नलिखित विकल्पों में से एक सबसे सटीक उत्तर से रिक्त स्थान भरें ]     
    • A. 

      संकल्प

    • B. 

      वचन

    • C. 

      कर्म

    • D. 

      सम्बन्ध

  • 7. 
    वरदान पर आधारित इस एक्सरसाइज में सभी सही वाक्यों का ही चयन करें--–       
    • A. 

      जब किसी भी प्रकार का दु:ख आये तो मनमनाभव मन्त्र ले लो जिससे दुख भाग जायेगा।

    • B. 

      तन बीमार हो जाए, धन नीचे ऊपर हो जाए, कुछ भी हो लेकिन दुख की लहर अन्दर नहीं आनी चाहिए।

    • C. 

      वही बच्चे सुख का अनुभव करते हैं जो दुःख की लहरों को जम्प देकर ऐसे क्रास करते हैं जैसे खेल कर रहे हैं।

    • D. 

      सागर के बच्चे सुख स्वरूप हो, दु:ख की लहर भी न आये।

Back to Top Back to top