Hindi Murli Quiz 02-01-2015

10 | Total Attempts: 262

SettingsSettingsSettings
Please wait...
Hindi Murli Quiz 02-01-2015

ये क्विज आज की मुरली पर आधारित है| मुरली सुनने के लिए यहाँ क्लिक करें| पुरानी क्विज  के लिए यहाँ क्लिक करें |


Questions and Answers
  • 1. 
    जो भी दृश्य चल रहा है उसे त्रिकालदर्शी बनकर देखो, हिम्मत और हुल्लास में रह स्वयं भी समर्थ आत्मा बनो और विश्व को भी समर्थ बनाओ । स्वयं के तूफानो में हिलो मत, अचल बनो । जो समय मिला है, साथ मिला है, अनेक प्रकार के खजाने मिल रहे हैं उनसे सम्पत्तिवान और समर्थीवान बनो । सारे कल्प मे ऐसे दिन फिर आने वाले नहीं हैं इसलिए अपनी सब चिंताएं बाप को देकर निश्चयबुद्धि बन सदा निश्चिन्त रहो| कल्याणकारी बाप और समय का हर सेकण्ड लाभ उठाओ ।
    • A. 

      True

    • B. 

      False

  • 2. 
    इस वाक्य को पूरा करें | सभी उत्तर कुछ न कुछ ठीक हो सकते हैं परन्तु आज की मुरली के अनुसार सबसे सटीक एक उत्तर ही चुनें |बच्चे स्वर्ग के लायक बनें । सर्वगुण सम्पन्न, 16 कला सम्पूर्ण बनाने की मेहनत ____ करते हैं । 
    • A. 

      सर्वशक्तिवान बाप

    • B. 

      बापदादा दोनों

    • C. 

      निराकारी बाप

    • D. 

      बाप , टीचर, सतगुरु तीनों

  • 3. 
    केवल नंबर लिखें -(जैसे अगर सही उत्तर पाँच है तो लिखें - 5)__ जन्म तुम बाप को याद करते आये हो । 
  • 4. 
    आज की धारणा के लिए मुख्य सार चुनें - (उत्तर एक या एक से अधिक भी हो सकते हैं )
    • A. 

      अन्तिम खूने नाहेक सीन देखने के लिए बहुत-बहुत निर्भय, शिव शक्ति बनना है ।

    • B. 

      सर्वशक्तिमान् बाप की याद से शक्ति नहीं लेनी है ।

    • C. 

      पावन बनकर, पावन बनाने की रूहानी सच्ची सेवा करनी है |

    • D. 

      डबल अहिसक बनना है । अंधों की लाठी बन सबको घर का रास्ता बताना है ।

  • 5. 
    इस वाक्य को पूरा करें |सभी उत्तर कुछ न कुछ ठीक हो सकते हैं परन्तु आज की मुरली के अनुसार सबसे सटीक एक उत्तर चुनें -यह फिर किस प्रकार का ज्ञान है! शास्त्र , वेद, उपनिषद् आदि छोड़ दिये, अब रिकार्ड के ऊपर वाणी चलती है! यह भी तुम बच्चो की बुद्धि मे है कि हम बेहद के बाप के बने है, जिससे____ मिलता है | ऐसे बाप को भूलना नहीं है ।
    • A. 

      अतीन्द्रिय सुख

    • B. 

      बेहद का वर्सा

    • C. 

      21 जन्मों की बादशाही

    • D. 

      बहुत शक्ति

  • 6. 
    आज की मुरली के अनुसार इनमें से कितने वाक्य सही हैं -(केवल नंबर लिखें- जैसे अगर तीन वाक्य ही सही हैं तो लिखें -3)1. सतयुग में सुख था तो पीस, प्रासपर्टी भी थी ।2.वह है ही भगवान फिर सेकण्ड नम्बर में है यह मम्मा बाबा जो अब बैठ बाप से वर्सा ले रहे हैं | 3.बाप खुद कहते हैं मुझे प्रकृति का आधार लेना पड़ता है । मै इस तन में प्रवेश करता हूँ । यह तन मैंने अपनी मर्ज़ी से चुना है |4.समझते है कि सन्यासी लोग हमको यह योग सिखलाएँ । वास्तव में वह सिखलाते कुछ भी नहीं हैं। 5. 21 जन्मों का पार्ट फिर ऐसे ही बजायेंगे । तुम सभी को अब संपूर्ण क्लीयर नॉलेज मिली है | 6.यह जो दिखाते है पाण्डव और कौरवों की युद्ध हुई, यह सब हैं बनावटी बातें ।
  • 7. 
    आज बाबा ने कहा -यही फुरना लगा हुआ है । किस बात का फुरना लगा हुआ है |सभी उत्तर कुछ न कुछ ठीक हो सकते हैं परन्तु आज की मुरली के अनुसार सबसे सटीक एक ही उत्तर चुनें |
    • A. 

      बाप को याद कर पवित्र बनने की |

    • B. 

      बाप की याद से सुखधाम में ऊँच पद पाने की |

    • C. 

      बाप की याद में रह औरों को ज्ञान समझाने की |

    • D. 

      बाप की याद से विकर्म विनाश करने की |

    • E. 

      बाप की याद में रहकर संस्कार परिवर्तन करने की |

    • F. 

      बाप की याद में रहकर बुद्धि का ताला खोलने की |

  • 8. 
    आज की मुरली के अनुसार सही वाक्य को चुनें ( उत्तर एक से अधिक भी हो सकते हैं )-
    • A. 

      जैसे बाबा का रीइनकारनेशन होता है, वैसे तुम बच्चों का भी रीइनकारनेशन होता है, तुम अवतरित हो ।

    • B. 

      ब्रह्मा द्वारा स्थापना करते फिर जो स्थापना हुई उनकी पालना भी जरूर करेंगे ना । यह सब अच्छी रीति समझाया जाता है, जो समझते है उनको यह ख्याल रहेगा कि हम बहुत ऊँच पद पावें |

    • C. 

      महारथियो की बाबा महिमा तो करते हैं |

    • D. 

      चित्रों में दिखातें हैं-ब्रह्मा की नाभी से विष्णु निकला । उन द्वारा बैठ सब शास्त्रों वेदों का राज़ समझाया ।

    • E. 

      अभी तुम समझते हो वह है जिस्मानी डबल हिंसक, तुम हो रूहानी डबल अहिसक । बादशाही लेने के लिए देखो तुम बैठे कैसे हो ।

  • 9. 
    इनमें से क्या-क्या ड्रामा प्लान अनुसार होता है ? (उतर एक से अधिक भी हो सकते हैं )
    • A. 

      गीतों का सिलेक्शन

    • B. 

      साधु - संतों की बातों पर लाखों मनुष्यों का चलना

    • C. 

      बाप को ठिक्कर-भित्तर में कह देना

Back to Top Back to top